You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

स्मार्ट सिटी भोपाल में गैर-मोटर चालित परिवहन पर चर्चा

स्मार्ट-सिटी मिशन में नॉन-मोटराइज्ड ट्रांसपोर्ट की शुरुआत करने ...

See details Hide details

स्मार्ट-सिटी मिशन में नॉन-मोटराइज्ड ट्रांसपोर्ट की शुरुआत करने वाला भोपाल देश का पहला ऐसा शहर है, जहां स्मार्ट पब्लिक बाइक शेयरिंग योजना सबसे पहले लागू की गई। इस योजना की शुरूआत में शहर में 50 साइकिल स्टेशन और 500 स्मार्ट साइकिल उपलब्ध कराई गईं।

एप, स्मार्ट-कार्ड, ई-लॉगइन-पिन या मोबाइल फोन से भुगतान करके साइकिल किराये पर ली जा सकती हैं । कम किराये और सहज उपलब्‍धता के चलते शहर में साइकिलिंग को प्रोत्साहन भी मिल रहा है और साइकिलिंग से शहर और शहरवासियों को प्रदूषण मुक्त पर्यावरण,साथ-साथ स्वास्थ्य लाभ और स्वच्छ शहर मिल रहा है।

इस लेख को लिखने का मुख्य उद्देश्य स्मार्ट सिटी, स्मार्ट परिवहन और पर्यावरण से संबंधित सबसे चुनौतीपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करने के लिए अधिक संख्या में आम मंच प्रदान करना है। स्मार्ट सिटी और उसके क्रियान्वयन के बारे में आपकी टिप्पणी/सुझाव प्रदान करें। आप इस विषय पर अपने विचार व्यक्त कर सकते हैं कि सरकार द्वारा सुचारु रुप से चल रही इस पॉलिसी के अंतर्गत योजनओं को ओर बेहतर कैसे किया जा सकता है।

निम्नलिखित बिन्दुओ पर आपके सुझाव आमंत्रित किये जाते हैं:-
१- शहर मै और किन-किन स्थानों पर साईकल स्टेशन बनाना उचित होगा?
२- शहर मै और किन-किन स्थलों पर साईकल ट्रैक होना चाहिए?
३- पब्लिक बाइक शेयरिंग को बढावा देने के लिए और क्या-क्या उपयुक्त कदम उठाये जा सकते हैं?

प्रस्तुत करने की आख़री तिथि 31 दिसंबर, 2017 है

All Comments
Reset
1 Record(s) Found

pradip sharma 2 months 2 weeks ago

sir,in my way. internet connection is the main reason for develop a city.if intenet connection is free for evey person at a afordable cost by govt.than more people can access internet. and in every school digital board is commanly for best future of kids. and we should control pollution .if a act launched by govt. that in a perticular day odd no cars and bike go and another day even no. cars and bike.In this way accident is also less in our city
thank you

e-mail-pradipsharma1301@gmail.com