You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

त्योहारों/विवाह के समय कोरोना संक्रमण रोकने के लिए अभियान

Start Date: 20-11-2020
End Date: 20-12-2020

आने वाला समय, त्योहारों और विवाह समारोह की खुशियों का है। ऐसे में हम ...

See details Hide details

आने वाला समय, त्योहारों और विवाह समारोह की खुशियों का है। ऐसे में हम अपने आस-पास COVID-19 संक्रमण के प्रसार को रोकने की हर संभव कोशिश करें ताकि हम त्योहार व समारोह को उसी हर्ष और उल्लास के साथ मना सकें जैसे COVID-19 के पहले मनाते आए हैं।

जब-तक हमारे बीच COVID-19 की दवा नहीं आ जाती, तब-तक सावधानी ही सुरक्षा है। आस-पास स्वच्छता बनाए रखना, हाथों को बार-बार साबुन से धोना या सेनिटाइज करना, चेहरे पर मास्क लगाना, किसी से भी बात करते समय 2 गज की दूरी का ध्यान रखना और सबसे जरूरी ज्यादा भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचना। सावधानी व सुरक्षा के उपाय द्वारा ही हम स्वयं को और हमारे परिवार को कोरोना वायरस से सुरक्षित रख सकते है।

आयुष विभाग द्वारा लगातार लोगों को जागरुक किया जा रहा है। COVID-19 संक्रमण से हम सभी मिलकर लड़ रहे हैं। केंद्र/राज्य सरकार द्वारा नागरिकों के लिए 24 घंटे आपातकालीन सेवाएं भी दी जा रही हैं।

आयुष विभाग का निरंतर प्रयास है कि इस COVID-19 से लड़ने में हम सभी की भागीदारी सुनिश्चित हो। त्योहार और विवाह समारोह के सीजन में आप भी COVID-19 संक्रमण को रोकने में अपनी भागीदारी निभाएं ताकि COVID-19 संक्रमण के प्रसार को कम से कम किया जा सके।

आयुष विभाग नीचे दिए गए बिन्दुओं के आधार पर आपके सुझाव जानना चाहता है।

• त्योहार सीजन में हमें किस तरह की बातों का ध्यान रखना चाहिए?
• विवाह समारोह में किस तरह की सावधानियां रखें ताकि संक्रमण को रोका जा सके?
• भीड़-भाड़ वाले इलाकों में संक्रमण तेजी से फैलता है, ऐसी जगहों में जाने से हम कैसे बच सकते हैं?

हम सभी के लिए यह एक चुनौतीभरा समय है लेकिन साथ मिलकर हम यह मुश्किल समय को भी पार कर सकते हैं। आपसे अनुरोध है कि आप अपने सुझाव के साथ अपने जिले व शहर का नाम लिखना न भूलें।

सावधानी व बचाव के उपायों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें https://www.ayush.gov.in/

All Comments
Reset
1 Record(s) Found
103750

Gagan kaur 6 days 11 hours ago

जब तक बचाव के लिए जरुरी दवाई नहीं आ जाती तब तक सार्वजनिक विवाह पर रो लगा देनी चाहिए और कानूनी विवाह को मान्यता देते हुए इस तरह के आयोजन करने का नियम बनाना चाहिए