You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

Contribution of Madhya Pradesh in Freedom Struggle

It’s that time of the year when the sound of patriotism echoes from every corner of the country. To mark the special day, folks indulge themselves in remembering the ...

See details Hide details

It’s that time of the year when the sound of patriotism echoes from every corner of the country. To mark the special day, folks indulge themselves in remembering the historical heroes of India’s freedom struggle and pay homage to them.

Do we know about the contribution of our state in India’s Independence?

Let’s discover and discuss!

Madhya Pradesh is known as “The Heart of India”. In the history of Indian freedom movement, Madhya Pradesh played a significant role. In the revolt of 1857, several freedom fighters from Madhya Pradesh participated in the Indian freedom struggle and the Indian Independence Movement. Major freedom fighters from Madhya Pradesh were Chandra Shekhar Azad, Ravishankar Shukla, Tatya Tope, Rani Lakshmi Bai, Rani Avanti Bai, Tantya Bheel and Jhalkari Bai.

MP was earlier divided into several small kingdoms which were captured by the British and incorporated into Central provinces and Berar and the Central India Agency by early 18th century. After independence, MP state was created with Nagpur as its capital. In 1956, the state was reorganised and its parts were combined with the states of Madhya Bharat, Vindhya Pradesh and Bhopal to form the new MP state with Bhopal as its capital. In the freedom struggle, many movements were successfully launched in Madhya Pradesh coinciding with the Non-cooperation Movement and Quit India Movement.

This rich history has no end.

On the occasion of 72nd Independence Day, MP MYGOV invites you to share your memories and knowledge about the role of Madhya Pradesh in Freedom Struggle. Let’s revisit those times and celebrate the contribution of our state in making this day the red-letter day of India.

Share Your Feelings!

All Comments
Reset
11 Record(s) Found

Rajendra Singh Jhala 11 months 2 weeks ago

अमझेरा (धार) के महान क्रान्तिकारी शहीद राणा बख्तावर सिह जिन्होंने अंग्रेजी सेना से लोहा लिया व उन्हे छलपूर्वक कैद कर 10 फरवरी 1958 को महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय परिसर मे फासी पर लटका दिया ।अमझेरा स्थित उनके किले को मप्र शासन ने राज्य संरक्षित स्मारक घोषित किया है ।यह जिला मुख्यालय से 27 किमी इन्दौर- अहमदाबाद मार्ग पर स्थित है ।
महाराणा बख्तावर सिंह की शहादत को शत-शत वंदन ।

Naresh verma 11 months 4 weeks ago

प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम में मध्यप्रदेश का विशेष योगदान रहा। सन 1824 में प्रथम बार राजगढ़ के नरसिंहगढ़ के कुँवर चैनसिंह ने अंग्रज़ों के विरूद्ध धावा बोला,यह घटना एक चिंगारी के समान प्रतीत हुई जिसने 1857 की क्रांति की मशाल जला दी। अंग्रेज़ो के लिए यह विद्रोह था,परंतु हमारे लिए यह क्रांति थी। जिसने पहली बार लोगो मे मन राष्ट्रभाव जगाया। मध्यप्रदेश के मालवा में यह क्रांति प्रारंभ हुई जो धीरे धीरे संपूर्ण में फैली । इस तरह तात्या टोपे , टंट्या भील आदि क्रांतिकारियो में प्रमुख योगदान दिया।

ramapati sahu 12 months 1 day ago

भारत की आज़ादी में मध्य प्रदेश का विशेष योगदान रहा है जैसे की चंद्रशेखर आज़ाद तात्या टोपे रानी दुर्गावती कई वीरो ने अपनी जान देकर देश को आज़ाद करने में अपना विशेष योगदान दिया .

sourav singh yadav 1 year 1 day ago

भोज ओपन यूनिवर्सिटी देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले मध्य प्रदेश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों पर रिसर्च करेगा। प्रदेश से जुड़े सभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों पर रिसर्च करने के साथ ही उनकी जीवन पर किताबें भी प्रकाशित करेगा। यह काम अटल बिहारी वाजपेयी चेयर के माध्यम से किया जाएगा।
भोज विश्वविद्यालय देश के पूर्व प्रधानमंत्री के नाम पर एक चेयर स्थापित करने जा रहा है। इस पर सैद्धांतिक सहमति बन गई है।

Madhvi raikwar 1 year 2 days ago

1857 ke ajadi andolan ki mahan shovtantrta shenahi maharani laxmi bai jhashi ki rani jo aj bhi hamare dilo me jinda he.inhone 1857 ki ajhadi ki ladai me kushalta purvak netratv kiya tha.evam mahan kranti kari tatya tope ji ne is ajadi ki ladai me shahid huye.in mahan ajad kranti kariyo evam unsare amar shahido ko mera naman jin ke ish balidan ke karn aj hab bharat vashi shotantr bau me shash lerahe he.shesh nirmad abhishesh he nhi doshi keval gati avrodhi jo tathshth shamaye kare ga una aprad do

Bharat Dubey 1 year 3 days ago

मध्य प्रदेश के स्वतंत्रा सैनानी
-शाहगढ़ के राजा बख्तबली
-रामगढ़ की रानी अवंती बाई।
-अमझेरा के राजा बख्तावर सिंह
-इंदौर के सादत खां और भागीरत सिलावत
-मनकहरी के रणमत सिंह।
-अजयगढ़ के फरजंद अली।
-दिमान देसपत बुंदेला।
-बड़वानी के खाज्या नायक।
-दबोह के दौलत सिंह कछवाहा।
-सोहागपुर के गरुल सिंह।
-अंबापानी के नवाब आदिल मोहम्मद खां और फजल मोहम्मद खां।
-हिंडोरिया के किशोर सिंह।
- महीदपुर के सदाशिवराव अमीन।
-जबलपुर के राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह।
-विजयराघवगढ़ के राजा सूरज प्रसाद।
आदि....