You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

Inviting Suggestions for Mukhyamantri Nikah Yojana!

The Social Justice and Disability Welfare Department is making meaningful efforts to provide financial assistance for marriage of Muslim ...

See details Hide details

The Social Justice and Disability Welfare Department is making meaningful efforts to provide financial assistance for marriage of Muslim daughters / widows / poor abandoned women, destitute and needy families. Chief Minister Shivraj Singh Chouhan initiated Nikah Yojana in Madhya Pradesh in 2012 to provide assistance for mass marriage of girls from less privileged Muslim families.

Under this scheme, the girl's age should be more than 18 years and boy’s age should be more than 21 years. The government gives financial assistance of Rs 17,000 by cheque for a happy married life of the candidates. In addition, Rs 5000/- is given for the proceedings of the marriage rituals (The material quality and value will be decided by the District Level Committee). The government also gives Rs 3000 to urban bodies for conducting mass marriage ceremonies. In addition to the assistance amount of Rs 25000/ - per girl under Chief Minister's Plan, a sum of Rs 3000/ - will be given per girl for the purchase of smart phones.

The candidate must be a resident of Madhya Pradesh and belong to the Muslim community. The applicant can also contact Social Justice and Disability Welfare Department in Madhya Pradesh.

The main objective of this scheme is to give financial assistance for marriage of Muslim girls and empower their families.

You are invited to give suggestions on how Mukhyamantri Nikah Yojana can benefit more families. Your feedback should be relevant to the scheme as it will be helpful to take this initiative forward.

Your Suggestions Matter!

All Comments
Reset
24 Record(s) Found

Jaykishan vishwakarma 1 year 3 weeks ago

माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान C.M म.प्र को देवास म. प्र. के बुद्धसेन पटेल के सुझाव पर सैनेटरी नैपकिन (पैड)से GST पूरी तरह से ख़त्म करने सुझाव देने से@भारत सरकार ने GST पूरी तरह से ख़त्म करने की घोषणा की है|यह बहुत बड़ा सामाजिक सोच महिलाओं के भलाई, हित के लिए सरकार ने किया है| मैं देश के सामाजिक संस्थाओ NGO एवं बड़े औधोगिक घरानो से निवेदन करता हूँ की सैनेटरी नैपकिन (पैड) की उपलब्धता आसान हो में आगे आये @और अपने महिला सामाजिक दायित्व का निर्बहन करें |उद्योगपति अपने धन के भंडार के लिए खोले
mygov_

Buddhasen Patel 1 year 3 weeks ago

माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान C.M म.प्र को देवास म. प्र. के बुद्धसेन पटेल के सुझाव पर सैनेटरी नैपकिन (पैड)से GST पूरी तरह से ख़त्म करने सुझाव देने से@भारत सरकार ने GST पूरी तरह से ख़त्म करने की घोषणा की है|यह बहुत बड़ा सामाजिक सोच महिलाओं के भलाई, हित के लिए सरकार ने किया है| मैं देश के सामाजिक संस्थाओ NGO एवं बड़े औधोगिक घरानो से निवेदन करता हूँ की सैनेटरी नैपकिन (पैड) की उपलब्धता आसान हो में आगे आये @और अपने महिला सामाजिक दायित्व का निर्बहन करें |उद्योगपति अपने धन के भंडार के लिए खोले

RAVINDRA KUMAR SHARMA 1 year 1 month ago

योजना निःशंदेह सुन्दर है. लेकिन ये योजना किसी जाति और धर्म से नहीं जोड़नी चाहिए. यह योजना हर आर्थिकरूप से कमजोर परिवारों की लाड़लियों के विवाह में सम्बल बनता तो योजना में चार चाँद लग जाते. लेकिन योजना को जाति और धर्म से जोड़ने से योजना का उद्देश्य और लक्ष्य कहीं और प्रतिबिंबित हो रहा है.

Sunil_457 1 year 1 month ago

यह बहुत अच्छा कार्य है जिस से कि लोगों को आर्थिक सहायता मिलेगी और समाज में सुधार आयेगा ।कुछ लोगो के द्वारा आर्थिक तंगी के कारण गलत रास्ते चुने जाते है और वही अपराध की श्रेणी में आ जाता है ।यह योजना निकाह के साथ लोगो में जागरूकता तथा सुधार लाएगी। और बालविवाह जैसी कुरीति को खत्म करेगी ।।।

Raju Verma 1 year 1 month ago

It seems to be a good scheme, but in my view it will be better, if Govt. take initiative to make the poor people of all religion capable to earn their livelihood by giving them quality education and equal opportunity.

These days the education system of MP looks to be worse compare to country average, grass root of basic education has been erosion and system is suffering due to highest level of corruption, even the smallest work in any Govt. office can't be done without giving bribe.