You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

66th Madhya Pradesh Foundation Day

Start Date: 28-10-2021
End Date: 06-12-2021

अतीत और वर्तमान की तस्वीरों के साथ रेखांकित कीजिए मध्यप्रदेश ...

See details Hide details
Closed


अतीत और वर्तमान की तस्वीरों के साथ रेखांकित कीजिए मध्यप्रदेश की विकास यात्रा

मध्य प्रदेश 01 नवंबर 2021 को अपना 66वां स्थापना दिवस मना रहा है। क्षेत्रफल के हिसाब से देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य मध्य प्रदेश ‘भारत के दिल ' के रूप में भी जाना जाता है। देश की स्वतंत्रता के बाद, 1 नवंबर 1956 में मध्य प्रदेश राज्य को पुनर्गठित किया गया और भोपाल इसकी राजधानी बना। इसे पहले मध्य भारत के नाम से भी जाना जाता था।

मध्यप्रदेश भारत ही नहीं, बल्कि विश्व के सबसे विकसित, सशक्त, सक्षम, समृद्ध और अग्रणी राज्यों में शामिल हो सके, इसके लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे है। स्थापना के बाद से ही मध्यप्रदेश को विकास की ओर अग्रसर करने में प्रदेशवासियों ने भी अपनी समझ और क्षमता के अनुरूप योगदान दिया है। साल-दर-साल विकास की ओर बढ़ते मध्यप्रदेश में आ रहे बदलावों को हम अतीत और वर्तमान की तुलना करके महसूस कर सकते हैं और इसका सबसे अच्छा माध्यम हैं तस्वीरें।

मध्यप्रदेश की स्थापना दिवस के मौके पर आइए हम और आप इन बदलावों को रेखांकित करें, प्रदेश के विभिन्न महत्वपूर्ण पर्यटन और ऐतिहासिक महत्व के स्थलों में समय के साथ आए विकासात्मक बदलावों को दर्शाती तस्वीरों को mp.mygov.in के साथ साझा करिए। साथ ही इन तस्वीरों के साथ आवश्यक विवरण भी दीजिए।

सभी प्रतिभागियों को ईमेल के माध्यम से सहभागिता प्रमाणपत्र प्रदान किए जाएंगे।

All Comments
Total Submissions ( 57) Approved Submissions (29) Submissions Under Review (28) Submission Closed.
Reset
29 Record(s) Found
320

Abhinash Tomar 5 days 12 hours ago

I am from Gwalior MP. The Gwalior fort was not in a good condition. most of it's part had been turned to ruins and it's wall had been weakened. But now it is reconstructed without any damage in its historic values.

Indore was not as developed and clean as we see today(IMG.3) but with regular efforts of government it is highly developed and the cleanest city of India.(IMG.4) not only Indore but 20 cities of MP are in top 100 cleanest cities.

There are 100's of such example.#Developed MP

File: 
1470

MANAVMISHRA 1 week 22 hours ago

मैं आपका ध्यान मध्यप्रदेश की विंध्य क्षेत्र के सफेद शेर की भूमि में केन्द्रित करना चाहता हूं हमरा जिला रीवा विंध्य क्षेत्र की भूमि के नाम से प्रसिद्ध है हमारे यहा मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में तानसेन जैसे महान गायक जन्मे है। अंत में मैं ये कहना चाहूंगा की #एमपी_में_दिल_हो_बच्चे_सा ☺️

File: 
450

Vikashkori 1 week 2 days ago

32 पहाड़ियों से घिरा हुआ हमारा बाधवगढ़ नेशनल पार्क जो सफेद शेरो के लिए विव विख्यात है ऐसे स्टेट में रहने का स्वभाग्य प्राप्त हुआ

File: 
2600

PANKESH BHAGORE 1 week 2 days ago

आज ग्वालियर एक आधुनिक शहर है और एक जाना-माना औद्योगिक केन्द्र है। ग्वालियर को गालव ऋषि की तपोभूमि भी कहा जाता है।

ग्वालियर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रमुख स्मार्ट सिटीज मिशन के तहत स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित होने वाले सौ भारतीय शहरों में से एक के रूप में चुना गया है।

13360

Lokendra verma 1 week 5 days ago

शिव की पावन भगवान शिव की पावन नगरी एवं अमर शहीद तात्या टोपे की बलिदान स्थली शिवपुरी (मध्यप्रदेश) का बदलता सौंदर्यपूर्ण परिदृश्य ...

File: 
500

Ruchibhadoriya 1 week 5 days ago

We are people hello here i m ruchi bhadoriya i m shareing something about Madhya Pradesh .we are the people of india then we are know totally about madhyapradesh .everywhere a lot of gross peoblms in society..goverment always face many problems and goverment save us protect us and prevent us for wrongfull duties and rights ..we have right and duties..by the constitution provide us well society as well as good facility which we want to citizens have duties too .protect our society and our rights.

File: 
1690

TejasTripathi 3 weeks 3 days ago

M.P. 20 cities were in top 100 in the cleanliness survey. INDORE Trenching Ground has been developed into Beautiful garden. Great work in Solid waste management resulting into 4 times cleanest city in a row . 100% of 15 lakh metric tons legacy waste remediated. proud to be a resident of MP.

File: