You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

अधिकारियों और सेवा केन्द्र संचालकों से सुझावों का आमंत्रण

प्रदेश में लोक सेवा गारंटी कानून 2010 के लागू होने के बाद नागरिकों में ...

See details Hide details

प्रदेश में लोक सेवा गारंटी कानून 2010 के लागू होने के बाद नागरिकों में शासन से जुड़े कार्यों और गतिविधियों में विश्वसनीयता के वातावरण का निर्माण हुआ है। इससे नागरिकों को सेवा प्राप्त करना आसान होने के साथ ही सम्पूर्ण व्यवस्था पारदर्शी भी हुई है। इसी कड़ी में जल्द ही कई प्रमुख सेवाएं समाधान एक दिवस के अंतर्गत आवेदन के दिन ही प्रदान की जा सकेंगी।

32 सेवाएं नागरिक घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से आवेदन करके प्राप्त कर सकते हैं। इसी के साथ ऑनलाइन आवेदन के लिए सेवाओं का दायरा भी निरंतर बढाया जा रहा है। (लिंक)

इस सफलता में विभागों के पदाभिहित अधिकारियों, लोक सेवा केन्द्रों व एम. पी. ऑनलाइन केन्द्रों की महत्वपूर्ण भूमिका है। म.प्र.शासन लोक सेवाओं की पहुँच समाज के हर वर्ग तक बनाने के लिए संकल्पित है।

राज्य लोक सेवा अभिकरण, इन सेवाओं को और प्रभावी बनाने के लिए लोक सेवा केन्द्रों. एम.पी.ऑनलाइन केन्द्रों और विभाग के पदाभिहित अधिकारियों से सुझाव / विचार आमंत्रित करता है। आप सभी के अनुभव और सुझाव इस मिशन में सहयोगी होंगे। नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपने सुझाव देकर इस मिशन में अपना योगदान अवश्य दें।

All Comments
Reset
110 Record(s) Found

Baba Saarthi 1 year 6 months ago

ठेले टापरों पर कीओस्क की सुविधा देकर इसके प्रारूप या प्रतिष्ठा के साथ खिलवाड़ न की जाये क्योंकि इस तरह का सञ्चालन ज्यादातर अतिक्रमण की परिधि मैं आता और यह सुविधा इसको बढ़ावा देने का पक्ष रखती है ...वे कीओस्क जो अपने काम मैं गुणवत्ता के लिए वर्षों से जाने जाते थे , अब वे केवल बचे खुचे ग्राहकों का इन्तजार करते हैं , नए कीओस्क २ पैसा कम मैं फॉर्म को लीप पोत देते कई तरह के ऑफलाइन फर्जी वेकेंसी लगाकर नागरिकों को अपनी तरफ आकर्षित करते है . न ही इनकी दुकाने प्रापर होती न ही इनका काम .

Baba Saarthi 1 year 6 months ago

आधार कार्ड को मो न से लिंक करने की सुविधा MP ऑनलाइन को दी जनि चहिये एवं पोर्टल चार्ज पर कीओस्क संचालक को प्राप्त होने वाली राशी की पारदर्शिता होनी चाहिए उदा के तौर पर 70/- पोर्टल पर नागरिक यही समझता है की पूरा कीओस्क संचालक रख रहा है जबकि ऐसा नहीं है ............धन्यवाद्

DEVILAL PATIDAR 1 year 7 months ago

आदरणीय सेवा प्रदाता आप सब के सहयोग और आशीर्वाद से समस्त कार्य पूर्ण रूप से कार्य कर रहे थे। परन्तु इस समय एमपी ई-डिस्ट्रिक्ट की सेवाएं जैसे आय,निवास,एवं जाति प्रमाण पत्र आदि कार्यों को करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इस लिए मैं आप सभी सेवा प्रदाताओं से अनुरोध करना चाहूंगा कि इस प्रकार समस्या रहित कार्य के संबंध में सुधार एवं बदलाव करने की कृपा करें। और सबी सेवा मे morpho डिवाइस या सब डिवाइस के उपयोग की खातिर ऐसा pravdhan किया जाए @Devilal Patidar@

Satyaprakash Gupta_1 1 year 7 months ago

आदरणीय सेवा प्रदाता आप सब के सहयोग और आशीर्वाद से समस्त कार्य पूर्ण रूप से कार्य कर रहे थे। परन्तु इस समय एमपी ई-डिस्ट्रिक्ट की सेवाएं जैसे आय,निवास,एवं जाति प्रमाण पत्र आदि कार्यों को करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इस लिए मैं आप सभी सेवा प्रदाताओं से अनुरोध करना चाहूंगा कि इस प्रकार समस्या रहित कार्य के संबंध में सुधार एवं बदलाव करने की कृपा करें। साथ ही आधार से संबंधित समस्त कार्य भी प्रदान करें ताकि ग्रामीण अंचल के नागरिकों को समस्या का सामना न करना पड़े। @सत्यप्रकाश गुप्ता@

FIROJ MOHAMMAD 1 year 7 months ago

आय एवं मूलनिवासी किस कारन रिजेक्ट किये जा रहे है हमको इसका कारण जरुर बताये अगर हमारी कोई गलती है तो हम उस पर विचार करेंगे इस्मे जाती प्रमाण पत्र की सुबिधा इस पर दी होती तो बहुत ही अच्छा होता | क्योकि लोकसेवा केन्दों की सांख्य सीमित है तथा MPonline की पहुच हर गली मोहल्ले तक है, अतः लोकसेवा केंद्र की सभी सेवाएं एमपी ऑनलाइन पर भी उपलब्ध कराई जाए। एवं इस हेतु एमपी ऑनलाइन कीओस्क संचालकों के लगातार प्रशिक्षण, निरीक्षण किया जावे तथा कड़े नियम बना कर कियस्कों को अधिक प्रभावी बनाया जाए।

PRADEEP SINGH 1 year 7 months ago

लोक सेवा केंद्र के कर्मचारियों पर भी ध्यान दिया जाये | लोक सेवा केंद्र के कर्मचारियों की योग्यता तो उच्च स्तरीय होने चाहिए और कार्य भी उच्च स्तरीय ही लिया जाता है है परन्तु लोक सेवा केंद्र के कर्मचारी को जो वेतन दिया जाता है वह 2500 से 5000 के मध्य दिया जाता है उसमे भी जिला प्रबंधकों के द्वारा भी शोषित किया जाता है | कहने को सुशां की नै पहल है पर कार्य का क्रियान्वन विपरीत है | लोक सेवा केंद्र के कर्मचारी को किस तरह से परेशान होना पड़ता है कभी इस पर भी झाँक कर देखिये |

MANSIH 1 year 7 months ago

कियोस्क संचालको को क्रेडिट लिमिट की फैसिलिटी प्रदान की जाये जिससे कियोस्क एक दिन भर फॉर्म भरे और अगले दिन दोपहर 12 बजे बैलेंस बराबर कर दे. ताकि आनन फानन में बैंक के चक्कर नहीं काटना पड़े, कई बार देखा जाता है की कियोस्क के बैंक खाते में रूपए नहीं होते जिससे किसीभी फॉर्म की फीस भरने में समस्या होती है. अतः क्रेडिट लिमिट देने पर विचार करने का कष्ट करे.

JITENDRA RAGHUWANSHI 1 year 7 months ago

आय एवं मूलनिवासी किस कारन रिजेक्ट किये जा रहे है हमको इसका कारण जरुर बताये अगर हमारी कोई गलती है तो हम उस पर विचार करेंगे और अगर आप लोगो की कोई गलती है तो आप विचार कीजियेगा

mahendra rajak 1 year 7 months ago

अाधार अपडेट का कार्य भी सभी सेवा केदाें से शुरू किया जाये जिससे अाम नागरिक परेशान न हाे ।