You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

बाढ़ सुरक्षा उपाय हेतु नागरिक अपने सुझाव दें

Start Date: 17-07-2020
End Date: 10-10-2020

राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल (SDERF), मध्य प्रदेश, भोपाल MP MyGov के सहयोग से ...

See details Hide details

राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल (SDERF), मध्य प्रदेश, भोपाल MP MyGov के सहयोग से सभी नागरिकों से बाढ़ सुरक्षा उपाय पर अपने विचार साझा करने के लिए आग्रह करता है; जिससे प्रदेश में बाढ़ सुरक्षा उपायों को और बेहतर एवं सुरक्षित बनाया जा सके।

हम जानते हैं प्राकृतिक आपदा जैसे- बाढ़ कभी भी घटित हो सकती है और ये आपदाएं कभी-कभी इतनी भयावह और बड़ी होती है कि इसे रोक पाना असंभव हो जाता है। लेकिन ऐसी आपदाओं में छोटे-छोटे एहतियाती उपाय हमें खुद को सुरक्षित रखने में काफी हद तक मदद कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर-

बाढ़ के दौरान...
✦ घबराएं नहीं, आपातकालीन टोल फ्री न. जैसे डायल 100, 1079, 108 पर जलभराव की सूचना दें।
✦ नदी के किनारों से सुरक्षित दूरी पर रहें।
✦ बच्चे, महिलाओं व बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें।
✦ पुल पर पानी रहने की स्थिति में उसे पार ना करें / अनावश्यक आवागमन से बचें।
✦ पुलिया / चट्टान के पास सेल्फी ना लें।
✦ ऐसे स्थान जहां पानी का तीव्र वेग हो वहां पिकनिक मनाने ना जाएं।
✦ ग्रामीण क्षेत्र के निवासी बारिश के समय मवेशी चराने ज्यादा दूर स्थान पर ना जाएं।
✦ ग्रामीण जन अपने घरों में आपातकालीन सामान जैसे- हवा भरे ट्यूब, रस्सियाँ, टार्च, बांस, सीटी इत्यादि अवश्य रखें।

राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल (SDERF) मध्य प्रदेश, आपदाओं की रोकथाम, आपदा के समय राज्य में लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और सुरक्षा उपायों को बेहतर बनाने के लिए निरंतर अपना कर्तव्य निभा रहा है।

बाढ़ जैसी आपदा के समय एहतियाती और सुरक्षात्मक उपायों पर लोगों में जागरूकता के लिए राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल, मध्य प्रदेश आपके सुझाव आमंत्रित करता है।

आप हमें बताएं कि-
1. बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं के समय किस तरह के सुरक्षात्मक उपाय किये जाने चाहिए?
2. बाढ़ के समय बचाव कार्य में नागरिक किस तरह से सहयोग कर सकते हैं?

विस्तार में पढ़ें: बाढ़ एवं जलभराव के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

All Comments
Reset
136 Record(s) Found
43300

Nasim Kutchi 1 day 1 min ago

Madhya Pradesh is a place which is in the heart of every one evergreen in the field of forest, so we should think big and better for this state so that people of this place can live there life in there own freedom with out any afraid of flood and calamities. life has no back space so we should care about them and build a better and big dam so that all the water can be reserved in higher quantity and later on water purification facilities should be brought up and water supplyto villagers process

1810

Mrs Babita Ahuja 3 days 4 hours ago

We can have constant touch with desaster department and meterological department to prevent the village people from loss of life , farms , homes etc.

350

SONU KUMAR 4 days 3 hours ago

Elevate your furnace, water heater and electric panel in your home if you live in an area with a high flood risk
Consider installing “check valves” to prevent floodwater from backing up into the drains of your home
If possible, construct barriers to stop floodwater from entering your home and seal basement walls with waterproofing compounds
https://www.imagesdownloadhd.com/whatsapp-dp/

53070

Gagan kaur 4 days 22 hours ago

कई जगह्यही देखने मे आया है कि शहरों की प्लानिंग ही बरसात को बाढ़ का रूप दे रही है एक पर कुदरत के आगे मानव की किसी तरह की नहीं चलती है परंतु लगातार जीवन के संधर्ष मे मानव जाति ने प्रत्येक आपदा का आमना मजबूती से लड़ कर किया है जिसमे की आज के परिदृश्य मे मानव टेक्जनोलॉजि से भी लेस है साथ के साथ शिक्षित समाज आपदाओं से लड़ते है नही समाज को संभालते भी है

100

YourName Rammilan maravi 5 days 8 hours ago

Badh ak natural aapda hai jo kabhi bhi aa sakti hai isse bachne ke liye badh grast chetra se door apna ghar banay agar aapka ghar badh grast chetra mai hai to isse bhi bacha ja sakta hai yadi aapka ghar badh grast chetra mai hai to agar tej baris ho rahi ho to badh aane ki sambhavna jyada hota hai agar kabhi aisa hota hai to aap apne ghar se nikalkar kisi uche sthan mai chale jaye jahan badh ka pani na pahuch sake or yad rahe apne jaruri saman sath le jayen bas itna hi sujhav hai