You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

बाढ़ सुरक्षा उपाय हेतु नागरिक अपने सुझाव दें

Start Date: 17-07-2020
End Date: 31-10-2020

राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल (SDERF), मध्य प्रदेश, भोपाल MP MyGov के सहयोग से ...

See details Hide details

राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल (SDERF), मध्य प्रदेश, भोपाल MP MyGov के सहयोग से सभी नागरिकों से बाढ़ सुरक्षा उपाय पर अपने विचार साझा करने के लिए आग्रह करता है; जिससे प्रदेश में बाढ़ सुरक्षा उपायों को और बेहतर एवं सुरक्षित बनाया जा सके।

हम जानते हैं प्राकृतिक आपदा जैसे- बाढ़ कभी भी घटित हो सकती है और ये आपदाएं कभी-कभी इतनी भयावह और बड़ी होती है कि इसे रोक पाना असंभव हो जाता है। लेकिन ऐसी आपदाओं में छोटे-छोटे एहतियाती उपाय हमें खुद को सुरक्षित रखने में काफी हद तक मदद कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर-

बाढ़ के दौरान...
✦ घबराएं नहीं, आपातकालीन टोल फ्री न. जैसे डायल 100, 1079, 108 पर जलभराव की सूचना दें।
✦ नदी के किनारों से सुरक्षित दूरी पर रहें।
✦ बच्चे, महिलाओं व बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें।
✦ पुल पर पानी रहने की स्थिति में उसे पार ना करें / अनावश्यक आवागमन से बचें।
✦ पुलिया / चट्टान के पास सेल्फी ना लें।
✦ ऐसे स्थान जहां पानी का तीव्र वेग हो वहां पिकनिक मनाने ना जाएं।
✦ ग्रामीण क्षेत्र के निवासी बारिश के समय मवेशी चराने ज्यादा दूर स्थान पर ना जाएं।
✦ ग्रामीण जन अपने घरों में आपातकालीन सामान जैसे- हवा भरे ट्यूब, रस्सियाँ, टार्च, बांस, सीटी इत्यादि अवश्य रखें।

राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल (SDERF) मध्य प्रदेश, आपदाओं की रोकथाम, आपदा के समय राज्य में लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और सुरक्षा उपायों को बेहतर बनाने के लिए निरंतर अपना कर्तव्य निभा रहा है।

बाढ़ जैसी आपदा के समय एहतियाती और सुरक्षात्मक उपायों पर लोगों में जागरूकता के लिए राज्य आपदा आपातकालीन मोचन बल, मध्य प्रदेश आपके सुझाव आमंत्रित करता है।

आप हमें बताएं कि-
1. बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं के समय किस तरह के सुरक्षात्मक उपाय किये जाने चाहिए?
2. बाढ़ के समय बचाव कार्य में नागरिक किस तरह से सहयोग कर सकते हैं?

विस्तार में पढ़ें: बाढ़ एवं जलभराव के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

All Comments
Reset
165 Record(s) Found
1940

Deepak Kewat 12 months 22 hours ago

हम जानते हैं कि बारिश के मौसम में अक्सर कर बाढ़ देखने को मिलता है जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्र हैं हमें हमेशा ऐसे स्थानों पर अपने घर या रहने का स्थान का चुनाव करना चाहिए जहां पर पानी का बहाव बहुत कम हो एवं पानी के स्तर से ऊंचे स्थानों पर हमें अपना घर बनाना चाहिए जिससे बाढ़ की परेशानी का खतरा कम हो ऐसे समय में हमें हमेशा अपने छोटे बुजुर्गों और अपाहिज व्यक्तियों का विशेष ध्यान देना चाहिए चाहिए ऐसे समय में हमें भारत सरकार द्वारा टोल फ्री नंबर 100 की सहायता लेनी चाहिए एवं अन्य व्यक्तियों को ही सलाह दे

4750

Ambrish Kela 1 year 5 hours ago

Flood prone areas must have lots of 200-250 feet deep bore wells just to sink water deep inside the earth. They should be suitably covered with gravel, etc for filtration and safety. This will also increase the water table in the region.

4350

Babu ram 1 year 1 day ago

सरकार को बाढ़ पीड़ित इलाकों में बाढ़ की संभावना होने से पहले ही सुरक्षा उपाय कर लेने चाहिए और लोगों को वहां से कहीं दूर शिफ्ट कर देना चाहिए जिससे कि लोगों की जान और माल की हानि ना हो।

अगर आप ब्लॉगिंग करना पसंद करते हैं तो हमारे इस पोस्ट को जरूर पढ़ें
https://www.bloggerguide.in/2020/10/blogging-kya-hota-hai.html