You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

मिशन मध्यप्रदेश नंबर-01

प्रदेश के लिए गर्व की बात है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में देश के 100 ...

See details Hide details

प्रदेश के लिए गर्व की बात है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में देश के 100 स्वच्छ शहरों में मध्यप्रदेश के 20 शहरों ने श्रेष्ठ प्रदर्शन किया। साथ ही देश के 4041 शहरों में हुई स्वच्छ प्रतिस्पर्धा में प्रथम और द्वितीय स्थान इंदौर और भोपाल ने प्राप्त किये।

स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के अंतर्गत एक तरफ प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में स्वच्छ शौचालयों, सार्वजनिक-सामुदायिक शौचालयों का निर्माण, निकायों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन कार्य प्रणाली पर कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही स्वच्छता व्यवहारों को प्रोत्साहित करने हेतु जन-समुदाय के बीच व्यवहार परिवर्तन के निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। सभी नागरिक स्वच्छता हेतु अपने घरों पर ही कचरे को दो डस्टबिन में रख रहे हैं; और गीले कचरे को अपने घर पर ही कंपोस्ट बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के शहरों के बीच प्रतियोगिता का आगाज हो चुका है। प्रदेश के 378 शहरों के नागरिक इस प्रतियोगिता में अपने शहरों को उत्तम स्थान पर लाने और शहरों की रैंकिंग बेहतर करने के लिए प्रयासरत हैं। हम अपने शहर को बेहतर कैसे बना सकते हैं? जिससे हमारा शहर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना सके।

आपके सुझाव शहरों और मध्यप्रदेश को देश में नंबर 01 पर लाने में सहयोग करेंगे। अपने महत्वपूर्ण सुझावों से इस मुहिम का हिस्सा बनें और इस अभियान को सशक्त बनाएं।

All Comments
Reset
79 Record(s) Found

Kushagra shukla 6 months 2 weeks ago

No. Of hospitals should be increased in cities instead of malls and other buildings.And rate of medicines should be reduced because health is wealth.If the citizens of madhya pradesh are healthy then only they can make our M.P. no. 1

Deepak Singh Thakur 6 months 2 weeks ago

आपका बहुत बहुत धन्यवाद । मेरे सुझाब है कि
मध्य प्रदेश और खासकर राजधनी भोपाल में पद्य प्रदेश शासन को ये हर दुकानदार , खासकर , होटल, चाय-पान की दुकान पर डस्टबिन का होना अनिवार्य कर देना चाहिए । अधिकांस ये देखने मे आता है कि सड़क किनारे खड़े ठेले बाले या अन्य दुकानदार स्वयं की दुकान के सामने डस्टबिन नही रखते है । वहा फेक दिया जाता है जिससे गंदगी होती है । इस ओर नगर निगम को ध्यान देना चाहिए ।जैसे हम अपना घर साफ और सुथरा रखते है ऐसे ही हम अपना शहर और देश , को तनमन से स्वस्थ और साफ रखेंजय हिंद

Pallav Pragati 6 months 2 weeks ago

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा वकीलों के लिए 4000 महीना सहायता राशि की घोषणा की गई थी क्या हुआ उसका

ANIL KUMAR CHAUHAN 6 months 3 weeks ago

Sir, we can make India into a well developed nation within !5 years by sustained and well planned plantation.We can plant thousand kinds of many billions trees and shrubs which provide fruits, vegetables,edible oil, cereals and medicines etc asides the railways , roads , canals and streams.1.2 billon safou fruit will produce 150 million ton of edible oil, 1.2 billion trees of maya bread nut can produce 300 million ton cereal,1.2 billion trees of african bread fruit will produce 200 million ton..

ANIL KUMAR CHAUHAN 6 months 3 weeks ago

Respected sir,we can solve the problem of shortage of fresh water for drinking and irrigation purposes by the desalination of sea water by the external electric field and ionic separation to produce huge energy and fresh water to send the water through pipeline. Desalination of water through this method need not any considerable energy due to perfectly insulated metal plates.That will solve not only the problem of fresh water but power crisis also.But for all you have to support us for experimen