You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

मिशन मध्यप्रदेश नंबर-01

प्रदेश के लिए गर्व की बात है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में देश के 100 ...

See details Hide details

प्रदेश के लिए गर्व की बात है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में देश के 100 स्वच्छ शहरों में मध्यप्रदेश के 20 शहरों ने श्रेष्ठ प्रदर्शन किया। साथ ही देश के 4041 शहरों में हुई स्वच्छ प्रतिस्पर्धा में प्रथम और द्वितीय स्थान इंदौर और भोपाल ने प्राप्त किये।

स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के अंतर्गत एक तरफ प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में स्वच्छ शौचालयों, सार्वजनिक-सामुदायिक शौचालयों का निर्माण, निकायों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन कार्य प्रणाली पर कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही स्वच्छता व्यवहारों को प्रोत्साहित करने हेतु जन-समुदाय के बीच व्यवहार परिवर्तन के निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। सभी नागरिक स्वच्छता हेतु अपने घरों पर ही कचरे को दो डस्टबिन में रख रहे हैं; और गीले कचरे को अपने घर पर ही कंपोस्ट बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के शहरों के बीच प्रतियोगिता का आगाज हो चुका है। प्रदेश के 378 शहरों के नागरिक इस प्रतियोगिता में अपने शहरों को उत्तम स्थान पर लाने और शहरों की रैंकिंग बेहतर करने के लिए प्रयासरत हैं। हम अपने शहर को बेहतर कैसे बना सकते हैं? जिससे हमारा शहर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना सके।

आपके सुझाव शहरों और मध्यप्रदेश को देश में नंबर 01 पर लाने में सहयोग करेंगे। अपने महत्वपूर्ण सुझावों से इस मुहिम का हिस्सा बनें और इस अभियान को सशक्त बनाएं।

All Comments
Reset
53 Record(s) Found

Subhankar Sikdar 1 day 11 hours ago

Hamra sbse phle kadam ye hona chahiye ki hum svayam swachh rhe thha ghar ko bhi svachh rkhe jb hum khud ko avam ghar ko svachh rkh payenge tb hi kisi aur ko svachh rhne ko bol payenge aur baki dusri jgah ko svachh rkh payenge.

anju kadere 3 days 8 hours ago

swatch bharat abhiyan jo chalaya gaya h unka sabse jyada presure balmik samaj par sabse jyada bhar aaya kyuki desh ko sfai abhiyan chalane me sabse aage balmik samaj hi sfai ke liye sabse aage h desh ki sfai me sarbpratham balmik hi safai krke desh ko number 1 banane ke liye mehnat krta h phir b sabse kam sellery unko hi milti h jabki sabse jyada mehnat balmik hi krte h unki sellery badni chahiye

Deepali Masand 3 days 10 hours ago

Hamra sbse phle kadam ye hona chahiye ki hum svayam swachh rhe thha ghar ko bhi svachh rkhe jb hum khud ko avam ghar ko svachh rkh payenge tb hi kisi aur ko svachh rhne ko bol payenge aur baki dusri jgah ko svachh rkh payenge. Hmhe hamare ghar ko svachh rkhne ke liye khude kachre ko khudedan me dlna chahiye. Kachre ko nadi naliyon me nhi bahana chahiye. Jisse ki hamari surrounding bhi clean rhe. Hame jute bage ka use krna chahiye polythene ki jgah jisse ki hamara area clean rahe.

Suyash Sharma 5 days 9 hours ago

मेरे सुझाव कृपया अटैचमेंट पर देखें यह बस्ती एवं कॉलोनी जहां वर्तमान में नई कंक्रीट सड़के बनाई जा रही है उसके संबंध में है।

PUSHPENDRA KUMAR SINGRAUL 1 week 2 days ago

हमें अपनें आस पास स्‍वच्‍छता बनाये रखानाा चाहिए ि‍कि हमारे देश में भी आज-कल स्‍वच्‍छता की प्रेरणा बहुुुत जोर शाेेेरसे चल रही हैं। आप लोगां पहले अपना घर,मोहल्‍ले,, बस्‍ती,नगर शहर आदि जगहों को स्‍वच्‍छ बनाये रखें। तो हमारा संपूर्ण शहर नगर को साफ शहर बनाना है। इस तरह से कह सकतें है। ि‍कि सफाई ि‍कि जबाव देही हम सब ि‍कि बनती है। इस समय अपने आस पास के लोागाोों को भी जानकारी देना चाहिए ि‍कि हमारे शहर में स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण काम चल रहा है। आप लोग शहर मोहल्‍ले को साफ बनाये रखे

PUSHPENDRA KUMAR SINGRAUL 1 week 2 days ago

मैं गांव से हु मैंने मेरे गाँव को स्वच्छ बनाने के लिए अकेले पूरे गांव की सफाई की लेकिन गांव के लोग इतने बेकार होते है दोबारा वो वही थूकेंगे वही शौच करेंगे उनको कितना भी समझाओ कोई नही सुनता ग्राम पंचायत नाम की है यहां सरपंच सचिव खुद शौच करने बाहर जाते है और सरकार बेरोजगारी पर ध्यान देने के बजाए स्वच्छता पर ध्यान दे रही है अगर आज का युवा पैसे कमाएंगा तो वो खुद गंदगी से नफरत करेंगा इसलिये पहले बेरोजगारी समाप्त हो । धन्यवाद जय हिन्द जय भारत

Sushil 1 week 3 days ago

मैं गांव से हु मैंने मेरे गाँव को स्वच्छ बनाने के लिए अकेले पूरे गांव की सफाई की लेकिन गांव के लोग इतने बेकार होते है दोबारा वो वही थूकेंगे वही शौच करेंगे उनको कितना भी समझाओ कोई नही सुनता ग्राम पंचायत नाम की है यहां सरपंच सचिव खुद शौच करने बाहर जाते है और सरकार बेरोजगारी पर ध्यान देने के बजाए स्वच्छता पर ध्यान दे रही है अगर आज का युवा पैसे कमाएंगा तो वो खुद गंदगी से नफरत करेंगा इसलिये पहले बेरोजगारी समाप्त हो । धन्यवाद जय हिन्द जय भारत