You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

मिशन मध्यप्रदेश नंबर-01

प्रदेश के लिए गर्व की बात है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में देश के 100 ...

See details Hide details

प्रदेश के लिए गर्व की बात है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में देश के 100 स्वच्छ शहरों में मध्यप्रदेश के 20 शहरों ने श्रेष्ठ प्रदर्शन किया। साथ ही देश के 4041 शहरों में हुई स्वच्छ प्रतिस्पर्धा में प्रथम और द्वितीय स्थान इंदौर और भोपाल ने प्राप्त किये।

स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के अंतर्गत एक तरफ प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में स्वच्छ शौचालयों, सार्वजनिक-सामुदायिक शौचालयों का निर्माण, निकायों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन कार्य प्रणाली पर कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही स्वच्छता व्यवहारों को प्रोत्साहित करने हेतु जन-समुदाय के बीच व्यवहार परिवर्तन के निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। सभी नागरिक स्वच्छता हेतु अपने घरों पर ही कचरे को दो डस्टबिन में रख रहे हैं; और गीले कचरे को अपने घर पर ही कंपोस्ट बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के शहरों के बीच प्रतियोगिता का आगाज हो चुका है। प्रदेश के 378 शहरों के नागरिक इस प्रतियोगिता में अपने शहरों को उत्तम स्थान पर लाने और शहरों की रैंकिंग बेहतर करने के लिए प्रयासरत हैं। हम अपने शहर को बेहतर कैसे बना सकते हैं? जिससे हमारा शहर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना सके।

आपके सुझाव शहरों और मध्यप्रदेश को देश में नंबर 01 पर लाने में सहयोग करेंगे। अपने महत्वपूर्ण सुझावों से इस मुहिम का हिस्सा बनें और इस अभियान को सशक्त बनाएं।

All Comments
Reset
79 Record(s) Found

Dr.manish jain 1 month 2 weeks ago

Village and city some social workers Ko har Nagar or gali me safai krne wale kramchario evam nagriko Ko waste uses ki jankari Dena use compost khad kaise banate hai.polithin and plastic ka minimum use and their recycling method ki jankari Dena or uske dwara kuch logoko rojgar uplabdh krana ye krne se desh swach or Swasthya or smradh banega....

MANGAL SINGH LODHI 1 month 2 weeks ago

जब तक जिम्मेदार लोग नेता एव अधिकारी पब्लिक से दूर रहेंगे तब तक म-प्र- 1 न0 नाही हो पाएगा उदाहरन जनता से मोबाइल न0 माँगा जाता हे अधीकारी के पोर्टल पर पुराना न0 लिखा हे सरकरी सिम का प्रयोग अपने निजी काम के लिए हे कोई भी नेता चुनाव होने के बाद गांव की तरफ आँख उठाकर नहीं देखता । गाओ आने की बात बहुत दूर की है।शहर तो साफ होने लगे हैं।
लेकिन गांवों की स्थिति दयनीय है।
गांवों की तरफ भी ध्यान देने की आवश्यकता है।

Lokesh Biswas 1 month 2 weeks ago

Mera Kehna ye hai ki Sabhi log Pehle Apne Aas Paas Safai rakhne. Fir samaj mein Safai rakhne. Uske bad Man Mein Baithe Mahal ko saaf kare. Phir jaa kar baad me Kisi Pardesh ko ya kisi Rajya ko saaf karne ki jimmedari Thane.

Jai Hind...

Jagdish Vishwakarma 1 month 3 weeks ago

जब तक जिम्मेदार लोग नेता एव अधिकारी पब्लिक से दूर रहेंगे तब तक म-प्र- 1 न0 नाही हो पाएगा उदाहरन जनता से मोबाइल न0 माँगा जाता हे अधीकारी के पोर्टल पर पुराना न0 लिखा हे सरकरी सिम का प्रयोग अपने निजी काम के लिए हे

Sharad sachan 1 month 3 weeks ago

सर जी
कोई भी नेता चुनाव होने के बाद गांव की तरफ आँख उठाकर नहीं देखता । गाओ आने की बात बहुत दूर की है।

Shilpa Varshney 1 month 3 weeks ago

Please put cctv cameras on all station (especially Mahoba...Ask driver not to stop train in outer.. ask TT to go in train and check the tickets...Allot RPF(honest and working team) in train...N suspend non working and theft motivating RPF from stations.

N return my stolen bag (atlst try to find) if u could..

All above will remove different kind of dirt from MP...

This is my one day visit experience of MP..