You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

वन विहार को पूर्ण रूप से प्रदूषण मुक्त व सुविधाओं को और बेहतर बनाने हेतु सुझाव दें

Start Date: 17-06-2020
End Date: 20-07-2020

वन विभाग, मध्यप्रदेश के अंतर्गत भोपाल में स्थित वन विहार सभी ...

See details Hide details

वन विभाग, मध्यप्रदेश के अंतर्गत भोपाल में स्थित वन विहार सभी नागरिकों से अपील करता है कि वो वन विहार को पूर्ण रूप से प्रदूषण मुक्त व वहाँ की सुविधाओं को और बेहतर बनाने के संबंध में अपने सुझाव mp.mygov.in पर साझा करें।

हम जानते हैं कि प्रकृति और मनुष्य के बीच बहुत गहरा संबंध है क्योंकि दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं और यह जीवन रूपी धारा ही प्रकृति है। प्रकृति की इस महान जीवनीशक्ति का एक जीवंत उदहारण है वन विहार। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बड़े तालाब के पास 445.21 हेक्टेयर इलाके को राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा देकर वन विहार का नाम दिया गया है। यहाँ जंगली जानवरों को ऐसी स्थिति में रखा जाता है जो कुदरत के बहुत करीब है; क्योंकि वन विहार राष्ट्रीय उद्यान एवं जूलॉजिकल गार्डन के साथ-साथ एक रेस्क्यू सेंटर एवं कंजर्वेशन ब्रीडिंग सेंटर भी है। यहाँ शाकाहारी वन्यप्राणियों की संख्या 1200 के आस-पास है। साथ ही लगभग 211 पक्षियों की प्रजातियाँ भी हैं। वहीं यहाँ लगभग 35 विभिन्न प्रजाति की तितलियाँ भी पाई जाती हैं। यहाँ का रेस्क्यू सेंटर मध्य भारत का एक मात्र ऐसा रेस्क्यू सेंटर है जहां पर वन क्षेत्रों से घायल वन्यप्राणी तथा सर्कस और मदारियों से विमुक्त किये गए वन्यप्राणी रखे गए हैं; इनमें बाघ, तेंदुआ, भालू, जैकाल,जंगली भैंसा, घड़ियाल एवं हायना जैसे वन्यप्राणी शामिल हैं। वन विहार रॉयल बंगाल टाइगर हेतु को-आर्डिनेटिंग जू है इसके साथ ही यह एशियाटिक लायन एवं जिप्स वल्चर हेतु पार्टिसिपेटिंग जू भी है।

वन विहार का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक रूप में वन्यप्राणियों की सुरक्षा, उन्हें आश्रय देने के साथ ही उनके प्राकृतिक आवास को बचाये रखने हेतु जनसाधारण में जागरूकता का विकास करना है। यहाँ आने वाले पर्यटकों को बेहतर सुविधा मिले इसके लिए सभी बातों का विशेष ख्याल रखा जाता है। जैसे- पेयजल, कैफेटेरिया, टॉयलेट, बैठने की सुविधा, भ्रमण हेतु बैटरी चलित वाहन, जिप्सी, सफारी वाहन, साइकल की सुविधा। वहीं हमारी वजह से वन्यप्राणियों को किसी प्रकार की कोई हानि न हो इसके लिए पार्क के अंदर कुछ क्रियाकलापों को प्रतिबंधित भी किया गया है। जैसे-
• हार्न, रेडियो, कार स्टीरियो या अन्य ध्वनि यंत्रों को बजाना।
• पोलीथिन या अन्य जैव अपघटनीय पदार्थों का उपयोग एवं कचरा फैलाना।
• वन्यप्राणियों को चिढ़ाना, उन पत्थर फेंकना, बाहरी वस्तु खिलाना या छेड़ना।
• पार्क के अंदर नशे की स्थिति में प्रवेश करना, मधपान या धूम्रपान करना या आग जलाना।
• प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रवेश करना।
• पेड़-पौधों से फूल, पत्ता, टहनी एवं फल तोड़ना।
• पौधों,वन्यप्राणियों,घौंसले,फेंसिंग,बाड़ा,साईन बोर्ड को क्षति पहुंचाना।
• पालतू पशुओं के साथ पार्क में प्रवेश।
• जल संरचना के अंदर स्नान करना, तैरना या मछली पकड़ना।
• वाहन में निर्धारित क्षमता से अधिक पर्यटकों का बैठना।

वन विहार प्रशासन के साथ-साथ एक जागरूक नागरिक के रूप में हमारी भी जिम्मेदारी है कि वन विहार को पूर्ण से प्रदूषण मुक्त व पर्यटकों के लिए उपलब्ध सुविधाओं को और बेहतर बनाने हेतु अपने बहुमूल्य सुझावों को साझा करें।

आप हमें बताएं कि-
1. वन विहार में उपलब्ध सुविधाओं में से आपको कौन सी सुविधा सबसे अच्छी लगती है?
2. सुविधाओं को और बेहतर बनाने हेतु किस तरह के उपाए किये जा सकते हैं?

आपके द्वारा प्राप्त महत्वपूर्ण सुझाव वन विहार भ्रमण के रोमांच में निश्चित ही सकारात्मक भूमिका निभा सकते हैं।

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में प्रवेश हेतु दिशा-निर्देश

All Comments
Reset
51 Record(s) Found
300

Prashant Awadhiya 22 min 31 sec ago

मुद्दे की बात करें तो मैं बस इतना ही कहूंगा की
1.सबसे पहले वहा की सिक्योरिटी बढ़ाइए ताकि लोग गंदगी न फैला सके।
2.वहा अंदर किसी को खाने की सामग्री पूर्णतः वर्जित करनी चाहिए,अगर किसी को भूख लगे तो कैंटीन जा कर खा सकता है।
3.अगर कोई गंदगी फैलता दिखे तो चालान काटिये ताकि लोग गंदगी फैलाने से डरे।
4.कुछ अच्छे अच्छे स्लोगन लिखवा दीजिये ताकि लोग पड़गे और उसकी अहमियत समझें।
5.हर 1 किलोमीटर मे आइड साइड डस्टबिन लगवाएं ताकि लोग उसका इस्तमाल कर सकें ।

500

Ankita chorghade 15 hours 46 min ago

Good initative taken by van vihar. This will help people to participate & show concern towords our environment environment.SAVE EARTH SAVE WILDLIFE

500

sonugour 1 day 13 hours ago

Van vihar me jo bhi people's visit karte sabse Pehle u kara unki contact details adhar card or aarogya setu se linked hona jaruri ho aur or van vihar ka khud ka apps ho jis se online booking ho sake.

500

sonugour 1 day 13 hours ago

Van vihar me jo bhi people's visit karte sabse Pehle u kara unki contact details adharm card or aarogya setu se linked hona jaruri ho aur or van vihar ka khud ka apps ho jis se online booking ho sake..

100

tips of maurya grup 2 days 3 hours ago

वन विहार को स्वच्छ प्रदुशण मुक्त बनाने के लिये सबसे पहले जरूरी है कि एक अच्छी रणनीति हो । उसी के अनुसार सबसे पहले एसी जगह जहां घने जंगल या वन विहार है उसके आस -पास प्लासिटक का कोई भी सामान न मिले प्लास्टिक के पाउच में मिलने वाला खाने का सामान भी नही क्योकि यह भी वैसे ही काम करता है जैसे कि नशा करने वाले के शर््ारीर में दारू गांजा तम्बाकु आदि । प्लास्टिक का असर बहुत धीमे गति से होता है पर जब प्लास्टिक का असर हो जाता है तो चाहे वो कोई भी हो जानवर पेड पौधे या इन्सान या फिर मिट्टी प्लास्टिक हर वस्तु

10380

Dwarika Prasad Patel 2 days 13 hours ago

वनविहार में घूमने के लिए बैटरी चालित वाहन, सफारी वाहन की सुविधा बहुत अच्छा है। वाहन में वरिष्ठ नागरिक (बुजुर्ग महिला या पुरुष) या छोटे छोटे बच्चे बैठकर पूरे वनविहार का भ्रमण कम समय में आनंदपूर्वक कर सकते हैं।

10380

Dwarika Prasad Patel 3 days 3 hours ago

हजारों लोग रोजाना वन विहार में घूमने के लिए जाते हैं।हम जिन पशु पक्षी और अन्य जीवों को देखने के लिए वन विहार में जातें हैं।उन जीवों के खान-पान में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। क्योंकि वन्य जीव है तो वन विहार है।

520

MEDICAL OBJRVATION SCIENCE OF EMERGENCY 5 days 6 hours ago

Dear Sir safe your Forrest with perfect O2 don't use any fibers and plastic in this area this is big problem wildlife conservation in all national park so be were plastic and safe Forrest by Rahul khare allahabad prayagraj 9889990081