You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

सुशासन सप्ताह : सुशासन में भागीदारी, निभाएं स्वच्छता के प्रति जिम्मेदारी

हम सभी के जीवन में कर्म का महत्वपूर्ण स्थान है। ऐसा कहा भी जाता है ...

See details Hide details

हम सभी के जीवन में कर्म का महत्वपूर्ण स्थान है। ऐसा कहा भी जाता है कि “कर्म ही श्रेष्ठ है, कर्म ही पूजा है।” क्योंकि कार्य हमारे जीवन और चेतना के विकास की प्रमुख प्रक्रिया है। इसलिए ऐसा कहना बिलकुल भी गलत न होगा कि हमारा कार्यस्थल हमारे लिए पूजनीय है। हम अपने कार्यस्थल पर अपने प्रतिदिन का लगभग एक तिहाई या इससे अधिक समय बिताते हैं, जहां पल प्रतिपल हमारे वातावरण से हम प्रभावित होते हैं और वातावरण के अनुसार ही हमारा मानसिक और शारीरिक विकास होता है । इस तरह हम देखें तो कार्यस्थल को स्वच्छ और सुन्दर बनाए रखना भी हमारे काम का ही एक महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए; क्योंकि एक स्वच्छ और सुंदर कार्यस्थल निश्चित ही अपने कर्मचारियों एवं वहां पर आने वाले लोगों...दोनों को ही प्रभावित करता है।

एक स्वच्छ कार्यस्थल का निर्माण करने से वहां काम करने वाले सभी कर्मचारियों के मनोबल को प्रेरित करने में सहायता मिल सकती है, जिसके फलस्वरूप उनमें समूचे कार्यालय की स्वच्छता के प्रति एक भावना का विकास होता है और वे अपने आस पास की स्वच्छता के लिए निरंतर सजग रहते हैं । स्वाभाविक रूप से इसका प्रत्यक्ष परिणाम कर्मचारियों के बेहतर स्वास्थ्य, वायरस और बीमारी के प्रसार को रोकने, वायु प्रदूषकों को रोकने , सफाई / रखरखाव / नवीनीकरण की लागत को कम करने इत्यादि पर समक्ष रूप से पड़ता है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि कर्मचारियों की कार्य क्षमता को बढ़ाता है।

इसलिए स्वच्छता को न केवल अपने कार्यस्थल के अन्दर बल्कि अपने कार्यस्थल के आसपास के क्षेत्र में भी बनाए रखना एक सराहनीय विचार है।

इसी विचार को ध्यान में रखते हुए 24 से 30 दिसंबर, 2018 तक मध्य प्रदेश के सभी जिलों में सुशासन सप्ताह मनाया जा रहा है। सप्ताह के दौरान सभी सरकारी कार्यालयों में स्वच्छता अभियान की शुरूआत कर इसे निरंतर बनाए रखने एवं इसका अभ्यास करने हेतु सभी को प्रेरित किया जाएगा।

राज्य लोक सेवा अभिकरण, मध्यप्रदेश शासन आपको अपने कार्यस्थल को स्वच्छ व सुंदर बनाए रखने के लिए आपके विचार आमंत्रित करता है। हमें कुछ व्यावहारिक तरीके एवं गतिविधियाँ सुझाएँ, जो कार्यस्थल पर स्वच्छ वातावरण विकसित करने में सहायक हो।

(आप अपने कार्यस्थल पर स्वच्छ वातावरण के निर्माण हेतु किये गये कार्यों की फोटो भी हमसे साझा कर सकते हैं।)

स्वच्छ रहें, स्वच्छ रखें, सुशासित बनें ।

All Comments
Reset
23 Record(s) Found

ashish vishwakarma 1 day 19 hours ago

मानव अपना स्वयं स्वभाव न देखकर जिसमें शासन की वह हर एक प्रक्रिया vजिसमें स्मार्ट वर्क किया जाता उसमे स्वच्छता हो और स्वच्छता कैसी ? जिसमें गंदगी किसी भी प्रकार की ना हो,ना ही भ्रष्टाचार हो और ना ही कूड़ा कचरा हो,इसलिए सुशासन यदि लाना है, थोड़ा मोटिवेशन और शिक्षा की आवश्यकता है जब हम अपने अधिकारों को जानने लगेंगे तो उनकी पूर्ति के लिए मांग भी करेंगे और जहां मांग करने जाएंगे तो वहां अपने आप स्वच्छता आ जाएगी साथ ही आ जायेगा सुशासन

MANOJ KUMAR SHARMA 2 days 18 hours ago

JIVAN ME JO KUCHH BHI PANA HAI TO MEHNAT BAHUT JARURI HAI, JIS PRAKAR MAKDI BAR BAR JALA TUTNE KE BAD BHI JALA BANATI HAI OR SAFAL HOTI HAI USI PRAKAR STUDENTS KO BHI MEHNAT KARNA CHAHIYE EK BAR AASAFAL HONE PAR HAME NIRAS NAHI HONA CHAHIYE BALKI ISSE SEEKH LEKAR DOGUNI MEHNAT KARNA CHAHIYE, OR SAFALTAO KI UCHAIYO KO CHHUNA CHAIYE :IS KARM BHUMI PAR KARM TO SABKO KARNA PADTA HAI :RAB TO SIRF LAKIRE DETA HAI RANG HAMKO BHARNA PADTA HAI | MRS. MANOJ KUMAR SHARMA

DEVENDRA JAIN 4 days 8 hours ago

सुशासन शासन का ही एक पार्ट है जिसमें शासन की वह हर एक प्रक्रिया जिसमें स्मार्ट वर्क किया जाता उसमे स्वच्छता हो और स्वच्छता कैसी ? जिसमें गंदगी किसी भी प्रकार की ना हो,ना ही भ्रष्टाचार हो और ना ही कूड़ा कचरा हो,इसलिए सुशासन यदि लाना है, थोड़ा मोटिवेशन और शिक्षा की आवश्यकता है जब हम अपने अधिकारों को जानने लगेंगे तो उनकी पूर्ति के लिए मांग भी करेंगे और जहां मांग करने जाएंगे तो वहां अपने आप स्वच्छता आ जाएगी साथ ही आ जायेगा सुशासन

VINAY SOLANKI 1 week 2 days ago

कार्यस्थल पर डस्टबिन रखे जाए तथा स्वच्छता के प्रति जागरूकता के चित्र तथा लेख लिखवाए जाए

Rishi malviya 1 week 6 days ago

नमस्कार! मेरा सुझाव कृपया ध्यान से पढे हो सकता है कि यह सिर्फ मध्यप्रदेश बल्कि पूरे हिन्दुस्तान की स्वच्छ बना दे।
में मात्र 15 साल का बच्चा हूं ,तो भूल चूक माफ करे।
मेरा सुझाव है कि जिस तरह हमारे देश में पुलिस है जनता की सेवा के लिए और पुलिस अपना काम करती भी है ईमानदारी से,उसी तरह क्यों ना हमारे देश में पुलिस स्टेशन की तरह एक garbage staion भी हो जो हमारे देश की स्वच्छता पर ध्यान दे छोटी से छोटी गली में भी अगर कोई कचरा फेकता है तो garbage cops उन्हें रुके और उन पर छोटा मोटा जुर्माना रखें।

basant tiwari 1 week 6 days ago

swaksha madhya pradesh banane ke liye sabse pahle sabhi logo ko jagruk karne ki jajurat hai swastha or swaksha rahne keliye uske kya phaide hai usse kya nuksan hai ye sabhi bate janta tak jana chahiye sirf kagjo tak shimit nahi hona chahiye iske liye sabhi logo ko jagruk karne ki jarurat hai vaise jyada jarurat hai samajhdar insan ko sanjhana sabse jyade gandgi padhe likhe log jyada kar rahe hai jyaise court ko hi lele to sabhi log graduate log hi court me rahte hai lekin bahut sare log gandgi

Dheerendra Singh Baghel 2 weeks 11 hours ago

SIR MAI GAO ME RAHTA HU AUR LOGO KI SOCH KO DEKHTA HU KI WO AAJ BHI SARKAAR DAWADA BANAYE GAYE SAOCHALAYA KA UPYOG NAHI KARTE HAI JIS SE GANDGI AUR BAHUT SAARI BIMAARIYA FAIL RAHI HAI MAINE LOGO KI MANSHIKTA KO BADALNE KA PRAYAS KAR RAHA HU MERE KO ES ME 30% SAFALTA BHI MILI HAI PAR JIS DIN 100% LOG KHULE ME JANA BAND KAR DENGE US DIN MAI BAHUT KHUS HONGA.

Rajendra jatav 2 weeks 1 day ago

use.Change people’s mindset towards proper sanitation use.Keep villages clean.Ensure solid and liquid waste management through gram panchayats.Lay water pipelines in all villages, ensuring water supply to all households by 2019