You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

सड़कों पर ट्रैक्टर-ट्राली की आवाजाही से होने वाली दुर्घटनाओं से कैसे बचा जाए?

Start Date: 13-07-2020
End Date: 31-10-2020

अक्सर यह देखा गया है कि लोग शादी-बारात, मेले, धार्मिक स्थलों पर होने ...

See details Hide details

अक्सर यह देखा गया है कि लोग शादी-बारात, मेले, धार्मिक स्थलों पर होने वाले आयोजनों में, फसलों को लाते-ले जाते समय असुरक्षित तरीके से ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में बड़ी संख्या में बैठ कर आवागमन करते हैं। वर्तमान समय में प्रवासी मजदूर भी अपनी जान जोखिम में डालकर अपने घरों तक पहुंचने के लिए किसी भी संभावित माध्यम का उपयोग कर रहे हैं। जिसके कारण कुछ दुर्घटनाएं भी हुईं हैं।

निश्चित ही जीवन की हानि सबसे बड़ी हानि है, ऐसे में यह जरूरी है कि ऐसे उपाय किए जाएं जिससे ऐसी दुर्घटनाओं से बचा जा सके, साथ ही लोगों की सुरक्षा भी की जा सके।

राज्य सड़क सुरक्षा सेल सभी नागरिकों को इस विषय पर अपने सुझाव देने के लिए आमंत्रित करता है।
♦ चालक को किस तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए?
♦ ऐसे में नागरिकों को क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

पीटीआरआई, पु.मु. भोपाल, द्वारा प्रदेश में बढ़ रही सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु समय-समय पर विशेष अभियान संचालित किये गए है।

सड़कों पर आवागमन कर रहे लोगों के लिए सर्वोत्तम व्यवस्था स्थापित करने हेतु अपने विचार हमसे साझा करें। अपने सुझाव के साथ अपना नाम और अपने शहर / जिले का नाम लिखना ना भूलें।

हमें इस स्थिति को बेहतर बनाने में आपका सकारात्मक सहयोग चाहिए। आप से यह भी अनुरोध है कि अपनी अन्य शिकायतों को दर्ज करने के लिए कृपया इस माध्यम का उपयोग न करें।

All Comments
Reset
174 Record(s) Found
4000

Ambrish Kela 7 months 4 weeks ago

Please make it compulsory for all states to get reflector sticker strips pasted behind and on sides of the trolleys. They must be seen clearly during the night too.

400

Manuji 7 months 4 weeks ago

1.जनजागरूकता बढाकर(पोस्टर आदि से संदेश)
2.सडक नियमों पालन करने वालो को पुरूस्कृत
3.उल्लघंन करने वाले पर जुर्माना
4.निगरानी हेतु कैमरे का यथासंभव प्रयोग
5.लोगो को शामिल करते हुए कार्य करना आदि
Name-manuji
Dis-vidisha

420

subodhsahu 7 months 4 weeks ago

सीमित गति से सीमित वाहन क्षमता के साथ वाहन चलाया जाए
चलाया जाए

2720

surendradhurwey 8 months 40 sec ago

ट्रैक्टर आज कल मोटर स्यकले से भी ज्यादा हो गई है जरूरतों के साथ इसका उपयोग भी बड़ गया है ठीक वैसे ही जैसे आज कल ब्यसिक्ले घर घर मे हो गई है किउकी इसका उपयोग ज्यादा हो गया है । अब जब ये इसका उपयोग बड़ ज्ञ तो घर पर बच्चे बड़े भी इसे ड्राइव करने लग गए है बिना लिसेंके के बिना अनुभव के जिस पर सासन का दबाव इन पर नही रहता है किउकी ज़्यादातर लोग इसे रोड पर नही चलाया जाता है। मेरा सुझाव है की (1) 18 इयर के बाद ही ट्रैक्टर चलाने की अनुमति हो (2) बिना लिसेंके के अनुमति न हो (3) इस पर सक्त कानून बने

340

Trinetra pandey 8 months 19 hours ago

टैक्टर की टाली मे मनुष्यों अथवा पशु ओ को बैठा कर ले जाना पूरी तरह प्रतिबंध किया जाना चाहिए.

117780

DHEERAJ KUMAR PANDEY 8 months 23 hours ago

सड़क दुर्घटना एवं यात्रा दुर्घटना से बचाने के लिए हमें रोड सेफ्टी सिस्टम का उपयोग आधुनिक टेक्नोलॉजी के माध्यम से करना चाहिए यह रोड सेफ्टी सिस्टम जो अंधे मोड़ रहते हैं जहां पर पहाड़ियां हैं ज्यादा घुमावदार मोड़ जो रहते हैं उनके लिए बहुत ही फायदेमंद एवं परिवर्तनशील टेक्नोलॉजी है रोड सेफ्टी सिस्टम टेक्नोलॉजी से यात्रा प्रबंधन बहुत आसान एवं सुलभ भविष्य के लिए साबित होगा

117780

DHEERAJ KUMAR PANDEY 8 months 23 hours ago

1 टैक्टर का परिवहन विभाग में रजिस्ट्रेशन हो
2 ड्राइवर का ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए
3 टैक्टर ट्राली के पीछे रेडियम के सांकेतिक चिन्ह होना चाहिए
4 टैक्टर को रोड पर ओवर लोड न किया जाय
5 ओर सबसे आवश्यक कारण है कि सरकार को सड़क की मरममत समय समय पर करना चाहिए

132710

Gagan kaur 8 months 1 day ago

एक गाँव से दूसरे गांव के लिए जयदायत्तर गाँववासी ट्रैक्टर जैसे साधन को पसंद करते है किसानों के लिए ट्रैक्टर पुर्ण रूप से कर युक्त व् rto युक्त होता है इसलिए किसी प्रका4 का चालान होना बहुत मुश्किल है इस का तोड केवल जागरूकता ही है जिस से स्वयं लोग इस प्रकार के साधन का इस्तेमाल से बचे जिमेदार नागरिक बने

790

lokesh kumawat 8 months 2 days ago

मेरा मानना है की किसानों के लिए ट्रैक्टर-ट्राली एक अहम साधन है, इनके बिना किसान अधुरा है.हाँ ट्रैक्टर-ट्राली को अन्य कार्यो के लिए प्रतिबंधित कर देना चाहिए जैसे की बजरी लाने, ईट इत्यादी लाने के लिए अन्य साधनों का उपयोग किया जा सकता है.और जानकारी के लिए हमारा ब्लॉग देखे : www.hindicountdown.in