You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

हनुवंतिया जल महोत्सव के लिए सुझाव 2017-18

एक समय का वीरान द्वीप आज भारत का सबसे बड़ा जल कार्निवल आयोजित करता ...

See details Hide details

एक समय का वीरान द्वीप आज भारत का सबसे बड़ा जल कार्निवल आयोजित करता है।

हनुवंतिया द्वीप की गोद में स्थापित इंदिरा सागर बांध के प्राचीन पानी के साथ यह प्राकृतिक दृश्य के रोमांच का पूरक है। स्पार्कलिंग वाटर से ऊपर फ्लाइंग या इसके माध्यम से तेजी से बढ़ते हुए, भारत का एक तरह का जल महोत्सव और वायु की साहसिक गतिविधियों की एक सारणी है। जो कि जल महोत्सव नामक एक कैनवास पर सेट है। यह महोत्सव मध्यप्रदेश का भी एक सांस्कृतिक प्रतिनिधित्व है- यह एक ऐसी संस्कृति जो चमक, समृद्ध विरासत का प्रतिनिधित्व करती है और शानदार भोजन का!

सांस्कृतिक धरोहर के लिए प्रसिद्ध मध्यप्रदेश को इस जल महोत्सव ने एडवेंचर पर्यटन के लिए भी प्रसिद्ध कर दिया है। यह पर्यटकों को मध्य प्रदेश आने की एक ओर वजह देता है। मध्यप्रदेश एडवेंचर स्पोट्स के भाव का जश्न मनाने के साथ-साथ मध्यप्रदेश की भावना को भी दर्शाता है। स्थानीय कारीगरों और शिल्पकारों की प्रतिभा, मधुर लोक संगीत, लाजवाब व्यंजन और प्रदर्शन, ये सब सटीक रूप से वर्णन करते हैं और परिभाषित करते हैं "भारत का दिल" ।

मध्यप्रदेश पर्यटन आपका स्वागत करता है, आगामी "हनुवंतिया जल महोत्सव" को ओर बेहतर बनाने के लिए अपनी राय, विचार और सुझावों को साझा करें। जो 30 नवंबर 2017 से 2 जनवरी 2018 तक आयोजित किया जा रहा है।

हनुवंतिया जल महोत्सव पर अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

प्रस्तुत करने की आख़री तिथि 09 जनवरी, 2018 है

हनुवंतिया जल महोत्सव, मध्य प्रदेश पर वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें

हनुवंतिया जल महोत्सव पर वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें

All Comments
Reset
37 Record(s) Found

RAJESH KUMAR CHAURAGADE 2 months 1 week ago

हनुवंतिया जल-महोत्सवः-
महोदय, उक्त महोत्सव को और अधिक बेहतर बनाने हेतु निम्न कार्यवाही पर क्रियान्वयन विचारार्थ आवश्यक होगा -आनलाईन मेला-बुकींग सिस्टम हो ,महोत्सव में सीसी केमरे लगाए जावे यथा प्रशासनिक व्यवस्था चुस्त हो तथा सामान्य जन सुविधा हेतु बजट अन्र्तगत व्यवस्था दी जावे ताॅकि आम आदमी भी जा सकें , इसी प्रकार नदी/जल संरक्षण का पारिस्थीतिक संतुलन सहित स्वच्छता अभियान को विशेषकर घ्यान दिया जावे मुख्यतया मूलभूत सुविधा पर भी घ्यान दिया जाना सामयिक होगा ।
शुभकामनाओ सहित.जय मध्यप्रदेश।।

Ritesh Dubey 2 months 2 weeks ago

हनुमंतिया को जिस तरह से विकसित किया गया निसंदेह प्रशंसनीय है परन्तु अभी भी सामान्य और माध्यम वर्ग की पहुँच से बाहर है! पर्यटन और नदी जल सरक्षण की तरफ सरकार के कदम सराहनीय है!कुछ कदम रोजगार एवं माध्यम वर्ग के व्यापारियों के लिए भी होने चाहिए! हनुमंतिया और सैलानी में भोजनालय एवं सामान्य वस्तुओ केलिए एक अलग मार्किट या जगह हो जहा सामान्य दम पर वस्तुए वीके की जाए ताकि आम आदमी भी इस प्राकृतिक वातावरण का लाभ ले सके

Rajendra jatav 2 months 2 weeks ago

हनुवंतिया जल महोत्सव का नाम बहुत सूना है में भी जाना चाहूँगा।
अगर वँहा ज्यादा विशाल पेड़ पौधे और पशु पक्षी हो तो बहुत सुन्दर लगेगा। वहा रहने और खाने पिने की व्यवस्था हो। सिमित मात्रा में सामान उपलब्ध हो कम दाम हो वस्तुओ का । आना जाने का किराया भी कम हो ।
धन्यवाद

preeti agrawal 2 months 2 weeks ago

Respected sir,
To increase the tourism at hanuvantia it's very important to start train facility from Indore.right know we can go either by bus or cars.it's not that convinent.

Anil Sonwane 2 months 2 weeks ago

टापू क़े विकास के लिए साधुवाद जीवनदायिनी माँ नर्मदा कोभी कोटिशः प्रणाम।देश और प्रदेश में राष्ट्रीय स्तर पर नदियो के बचाव के लिए अभियान चलाये जाना चाहिये नदियो के किनारे बसे हुए शहरों के प्रबुद्घ नागरिको एवम् समाज सुधारको को आमंत्रित कर नदियो के किनारे नविन वनो की स्थापना के बारे में जागरूकता लाई जा सकती है।प्रदेश के युवाओ से सुझाव आमंत्रित किये जा सकते है।देश के अन्य राज्यो में महोत्सव के विज्ञापन दिखाकर पर्यटको की संख्या बधाई जा सकती है।

Yogendra 2 months 2 weeks ago

हनुमन्तिया पर पुलिस चौकी की स्थापना हो, कोटेज चार्ज ज्यादा है अत: आसपास सस्ते गेस्ट हाउस निर्मित हो | मिनी बसो को खंडवा हरदा माहेश्वर ओम्कारेश्वर से हनुमन्तिया तक परमिट मिले,
रैन वसेरा चालू हो, और स्थाई हाट बाजार बने |

VIJAY KUMAR VISHWAKARMA 2 months 3 weeks ago

हनुवंतिया जल महोत्सव के बारे में प्रदेश के स्कूली बच्चे भी भलीभांति जान सकें इसलिए उन्हें भी विविध रोचक प्रतियोगिता एवं विवरणिका प्रदान कर उक्त आयोजन से जोड़ा जा सकता है ।

Ramakrishna Lakshmanan 2 months 3 weeks ago

Jal Mahotsav should also be used as a platform for creating awareness about the importance of conserving water for usage by future generations. Water conservation should be made an important feature of this Mahotsav. Creating awareness about rainwater harvesting, recycling of used water, rationing of water during crisis like draught, famine, etc.should be initiated during the period of Mahotsav.