You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

‘नेकी की दीवार’ कार्यक्रम के लिए अपने विचार साझा करें

Start Date: 21-10-2019
End Date: 10-12-2019

‘नेकी की दीवार’- राज्य आनंद संस्थान, आध्यात्म विभाग मध्यप्रदेश ...

See details Hide details

‘नेकी की दीवार’- राज्य आनंद संस्थान, आध्यात्म विभाग मध्यप्रदेश द्वारा दूसरों की मदद करने की एक पहल है। इसके लिए विभाग आपके महत्वपूर्ण विचार आमंत्रित करता है।

कहते हैं संसार में सबसे सुखी वही है, जो दूसरों को कुछ देने में विश्वास रखता है; और यह बात समाज द्वारा भी मानी गई है कि सच्ची खुशी का सार दूसरों की मदद करने में ही निहित है। विभिन्न प्रयोगों से भी पता चलता है कि दूसरों की मदद करने वाला व्यक्ति अपने जीवन में न केवल खुश रहता है, बल्कि स्वस्थ और सकारात्मक ऊर्जा से परिपूर्ण भी रहता है।

खुशी के इसी विचार को ध्यान में रखते हुए राज्य आनंद संस्थान, आध्यात्म विभाग मध्यप्रदेश ने ‘आनंदम’ नामक एक पहल की शुरूआत की है, जिसका उद्देश्य जरूरत मंदों को उनकी आवश्यकता का सामान उपलब्ध करवाना तथा सामग्री देने वाले व्यक्ति को ‘Joy of Giving’ का अनुभव कराना है। 'नेकी की दीवार' इसी का एक रूप है, जिसमें आमजन को उनके घरों में उपलब्ध अनावश्यक दैनिक उपयोग की वस्तुओं को जरुरत मंदों के साथ साझा करने के लिए एक मंच प्रदान किया जाता है। आज प्रदेश भर में 170 से अधिक ऐसे स्थान हैं जो स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से सुचारू रूप से संचालित हो रहे हैं।

इस कार्यक्रम को और बेहतर बनाने के लिए अपने विचार व सुझाव साझा करें।

All Comments
Reset
194 Record(s) Found
194320

V K TYAGI 11 months 3 weeks ago

नेकी की दीवार का प्रस्ताव सरकार द्वारा किया गया एक सराहनीय प्रयास है हर प्रदेश की सरकारों को ऐसे प्रयास करने चाहिए

14110

satendra pal singh 11 months 3 weeks ago

एमपी सरकार का यह एक सराहनीय एवं महान कार्य है मानवता के नाते व्यक्तियों को एक दूसरे की आर्थिक एवं सामाजिक मदद करनी चाहिए जिससे व्यक्तियों में सौहार्द की भावना होनी चाहिए

4430

Ranjna Goyal 11 months 4 weeks ago

यह एक बहुत ही अच्छा प्रयास है जरूरतमंद लोगो की मदद करने का।
जिनके पास ज्यादा है यहाँ छोड़ जाएँ, जिन्हे जरुरत है वे ले जाएँ
बस एक बात का ध्यान रखें की हो सके तो ऊपर शैड हो नहीं तो बारिश में भीगने की सम्भावना रहती है

9050

Pooran Kumar Shakya 12 months 2 days ago

में चाहता हूँ कि लोग सभी जीव,जन्तु,मनुष्य,पक्षी सबकी मदद करे।पक्षी ,जानवर कोई कष्ट में हो तो उसकी मदद करे।मेरे गाँव मे एक कुत्ते पर किसी ने गले पय चोट पहुँचा दी तो उसके गले मे कीडे पड़ गये ।फिर जब वह कुत्ता किसी के दरवजे पर पहुँचता तो सब लोग उसको मार-पीटकर भगा देते थे।कोई उसका दर्द नहीं पहचानता था।इतना होने पर मुझे पता चला (में एक आम आदमी हूँ मेरे पास कोई रोजगार नहीं हैं)फिर भी मेंने उस कुत्ते का इलाज किया और आज वह स्वस्थ हो गया है और मेरे बुलाने पर वह प्रेम से मेरे पास आता हैं।...

36950

Manisha Dhurve 12 months 3 days ago

चलिए बच्चो के चेहरो पर मुस्कान लाते है, गरीब बच्चो को कुछ खिलौने भी दे आते है