You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

Inviting suggestions for better implementation of Medical Knowledge Sharing Mission

Start Date: 11-04-2022
End Date: 30-05-2022

मेडीकल नॉलेज शेयरिंग मिशन के बेहतर क्रियान्वयन के लिए सुझाव ...

See details Hide details


मेडीकल नॉलेज शेयरिंग मिशन के बेहतर क्रियान्वयन के लिए सुझाव दें -


--------------------------------------------------------------------------

स्वास्थ्य एक वैश्विक मुद्दा है और बदलते समय में यह जरूरी है कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में हो रहे नवाचारों से मध्यप्रदेश के चिकित्सा विशेषज्ञों और छात्रों से अवगत कराया जाए। इसी उद्देश्य को लेकर मध्यप्रदेश शासन के चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा ‘ मेडीकल नॉलेज शेयरिंग मिशन’ कार्यक्रम शुरू किया गया है।

इस मिशन के अंतर्गत देश—विदेश में चल रहे चिकित्सकीय नवाचार एवं नई पद्धति पर शोध कर रहे प्रसिद्ध चिकित्सीय संस्थानों से (MOU) किया जाएगा। इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में हो रही नई रिसर्च और पद्धतियों के आदान—प्रदान में मदद मिलेगी। साथ ही मिशन के माध्यम से यह भी प्रयास किया जाएगा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रहे विभिन्न बीमारियों के शोध में मध्यप्रदेश के चिकित्सक एवं छात्र अपना योगदान दे सकें।

मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन के क्रियान्वयन में विभाग अंतर्गत चिकित्सक, एवं अन्य स्टाफ, चिकित्सीय छात्रों- मेडिकल, डेंटल, नर्सिंग एवं पेरामेडिकल समस्त को शामिल करते हुए निम्न आयामों को स्थापित करने हेतु कार्य किया जा रहा है –

1- उच्च स्तरीय चिकित्सीय उपचार व्यवस्था एवं अस्पताल प्रबंधन को सुनिश्चित करना
2- चिकित्सा शिक्षा में अनुसंधान, विकास, क्षमता वृद्धि
3- चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सीय उपचार व्यवस्था में नवीनतम तकनीकों का उपयोग सुनिश्चित करना
4- छात्रों, डॉक्टर एवं नर्सिंग-पेरामेडिकल स्टाफ के लिए Behavioral Approach, Skill Development, Training & Capacity Building के क्षेत्र में कार्य करना डिजिटल प्लेटफार्म विकसित कर विशेषज्ञ चिकित्सकों एवं संस्थानों को पंजीकृत कर उनके शोध कार्यों को ब्लॉग, यूटयूब, वेबसाइट आदि के माध्यम से प्रकाशित किया जाएगा।

मिशन के द्वितीय चरण में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ,विश्व बैंक सहित विभिन्न अंतरराष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं को साथ जोड़ने का प्रयास किया जाएगा।

मेडीकल नॉलेज शेयरिंग मिशन हमारी स्वास्थ्य सुविधाओं को उत्कृष्ट बनाने में मील का पत्थर साबित हो सकता है। मध्यप्रदेश शासन चिकित्सा विभाग अपनी इस पहल को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए चिकित्सा विशेषज्ञों,छात्रों और आम नागरिकों से mp.mygov.in के जरिए सुझाव आमंत्रित करता है।
आपके सुझाव इसके बेहतर क्रियान्वयन में मददगार होंगे।

आप अपने सुझाव नीचे कमेंट बॉक्स में साझा करें।

All Comments
Reset
68 Record(s) Found
169990

Govind Sharma 4 days 2 hours ago

मान्यवर,
मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन बेहतर क्रियान्वयन के लिए नए-नए शोध के द्वारा एवं गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा संस्थानों का बेहतर क्रियान्वयन तथा मेडिकल स्टाफ चिकित्सा अनुसंधान जैसे कई नावाचारों के अधिक से अधिक बेहतर क्रियान्वयन के लिए शासन द्वारा एक नीति निर्माण एवं उच्च गुणवत्तापूर्ण शिक्षा संस्थानों की स्थापना चाहिए होनी। जिससे अधिक से अधिक और अच्छे से अच्छे डॉक्टर पैरामेडिकल स्टाफ, चिकित्सा एवं चिकित्सकीय उपचार सभी नए नए नवाचार से जोड़ा जाना चाहिए।

7380

Tabssum 4 days 6 hours ago

आदरणीय श्री मुख्यमंत्री जी आप राज्य में ज्यादा से ज्यादा मेडिकल कॉलेज बनवाने का कष्ट करें ताकि हमारे सभी युवाओं को मेडिकल की अच्छी खासी शिक्षा मिले

440

ASHISH BANERJEE 1 week 1 day ago

We are proud of state and Central Government Central Government and state government both are improve our medical everything we are proud of our chief ministers and our read and read prime minister Narendra Modi we are thankful to government both government
Regards Ashish Banerjee

122580

Hanwant Singh Rathore 1 week 6 days ago

मेडिकल नोलेज शेयरिंग मिशन क्रियान्वयन हेतु राज्य सरकार ने MBBS कोर्स को हिन्दी माध्यम मे करके सराहनीय कदम है। social media से,,OTT platform,मेडिकल नोलेज के एप का निर्माण करना,इंटरनेट के माध्यम से,MyGovt platform पर उपलब्ध कराना व समस्त जन स्वास्थ्य केंद्रो पर उपलब्ध कराना व विज्ञापन का सहारा लेना

64670

SANJAY KUMAR BUNKAR 2 weeks 5 hours ago

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने गुरुवार को मेडिकल नालेज शेयरिंग मिशन की शुरुआत की। चिकित्सा क्षेत्र में नवाचारों की श्रृंखला में यह बड़ा कदम है। इस इनोवेशन के जरिए राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चिकित्सा शिक्षा और चिकित्सकीय उपचार की नई तकनीकों, इनोवेशन और शोध को मध्यप्रदेश के चिकित्सकों और छात्रों तक पहुंचाया जाएगा।