You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

Suggestions invited for study on the present status of other backward classes in Madhya Pradesh

Start Date: 07-01-2022
End Date: 07-02-2022

मध्यप्रदेश में पिछड़े वर्गों की वर्तमान स्थिति पर अध्ययन के ...

See details Hide details


मध्यप्रदेश में पिछड़े वर्गों की वर्तमान स्थिति पर अध्ययन के लिए सुझाव आमंत्रित


--------------------------------------------

मध्यप्रदेश में 2 सितंबर 2021 को गठित मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग प्रदेश में पिछड़े वर्गों की सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक तथा राजनीतिक स्थिति का अध्ययन कर रहा है। इसका उद्देश्य मध्यप्रदेश में पिछड़े वर्गों के कल्याण के लिए सुझाव और अनुशंसाएं प्रदान करना है। इस अध्ययन के लिए नागरिकों से भी सुझाव आमंत्रित किए जा रहे हैं।

आप अपने सुझाव नीचे कमेन्ट बॉक्स में साझा करें।

अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

All Comments
Reset
126 Record(s) Found
120

ParasramAkhande 2 days 12 hours ago

mama ji ne garibo ke liye anek scheme laye jisme mukhyataya kisano ke liye fasal bima yojna or Sambhal yojna jisme anugraha rashi dekar achha kam kiya hai pichle bar 19 January 2021 ko anugraha rashi 1 click ke madhyam se send kiya tha iske liye mamaji ko dil se dhanyavad

10580

Rajeshprajapati 2 days 13 hours ago

जय हिंद जय भारत सरकार जो भी करें सबके लिए अच्छा ही करें जिससे कि लोगों में सद्भावना बनी रहे जय हिंद

2180

Rewa bagore 2 days 19 hours ago

भारत मे निरंकुश पार्टीतंत्र के नेता और जजोम पर प्रजातांत्रिक नियंत्रण हेतु जनलोकपाल लाओ

120

SaakshiPardeshi 4 days 7 hours ago

आरक्षण की प्रक्रिया में वर्ग के भीतर रखी गई प्रत्येक जाति को न्याय नहीं मिल पाता इसलिए आरक्षण जाति वर्ग के स्थान पर जातिगत जनसंख्या के प्रतिशत के आधार पर सभी जाति को अलग दिया जाना चाहिए मध्यप्रदेश में वैगा भरिया आदि जातियों पर लागू है सामान्य वर्ग की अवधारणा भ्रामक है इसे समाप्त किया जाना चाहिए जिस जाति की जितनी जनसंख्या उसे उतना आरक्षण के सिद्धांत पर आरक्षण को जातिवार लागू किया जाना चाहिए तभी देश में समानता आएगी और प्रत्येक जाति का विकास समान रूप से हो सकेगा

18650

Muneem Sahu 4 days 10 hours ago

पिछड़ा वर्ग को 27प्रतिशत आरक्षण दिया जाना उचित है क्योंकि सर्वाधिक जाति इसी
श्रेणी में आती है।यदि संशोधन किया जाता है तो
सभी वर्गों में संशोधन होना चाहिए।

440

Annu Sharma 4 days 13 hours ago

जिस पिछड़ा वर्ग में जिनके माता पिता सरकारी नौकरी से हैं उन लोगो को क्या जरूरत है आरक्षण की,जिनकी जमीन जायदाद इतनी है उनको क्यों दिया जा रहा है आरक्षण शिक्षा में अगर देना ही है तो उनको दो जिनको सच में इसकी जरूरत है फिर पिछड़ा वर्ग हो या सामान्य शिक्षा सबको बराबर मिलनी चाहिए और आरक्षण उन्ही को मिलना चाहिए जो वास्तव में हकदार है। तभी इस देश का समाज का और राज्य का स्तर सुधरेगा क्यों कि जहां शिक्षा में भेदभाव है वहां कभी विकास नहीं हो सकता।