You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

नवोत्थान कार्यक्रम - United Nations Development Programme (UNDP)

Start Date: 31-12-2019
End Date: 29-02-2020
एक जागरूक व सभ्य समाज के रूप में, हम सभी की जिम्मेदारी है कि समाज को नशा मुक्त बनाने में अपना हर संभव सहयोग दें। कार्यालय संभागीय आयुक्त भोपाल तथा यूएनडीपी द्वारा 'नवोत्थान' कार्यक्रम को और प्रभावी बनाने हेतु अपने बहुमूल्य सुझावों को mp.mygov.in पर साझा करें। - https://mp.mygov.in/en/group-issue/seeking-suggestions-checking-substance-abuse/
All Comments
Discussions on This Talk
Reset
37 Record(s) Found
114480

tripti gurudev 10 hours 8 min ago

अवसाद, तनाव और चिंता की स्थिति से बचें। ये स्थितियां नशे को जन्म देती हैं।

114480

tripti gurudev 1 day 9 hours ago

व्यक्ति को जीवन मे व्यस्त रहना चाहिए कुछ न कुछ अच्छे कार्य करते रहना अच्छा है, इससे नशे जैसे व्यशन की ओर दिमाग नही जायेगा।

1530

Rajesh dangi 2 days 4 hours ago

Ham nasha chode sakte hai vo bhi bhut hi aasan tarike se vo ye hai ki hame sir in char addat ko apna hai
1.sanket(ishara)...ko andekha kar do.
2.aakarshan(attrection)....unattrection jar do.
3.response......response hi mat do
4.reward....air socho ke isse hume kya mil raha hai.
Ye sab aapne aap se kha aor and ye do ki main ab se nasha nhi nhi karuga naki ye ki main kiss kar raha hu chodene ki bas aor aap is se mukhth ho aaoge by strong will power.
thanks

470

Akhilesh Kumar Garg 2 days 19 hours ago

नसे की आदत को नहीं नसे को बंद करना चाहिए

114480

tripti gurudev 3 days 5 hours ago

नशा छोडने वाले ब्यक्ति का समाज के नागरिकों द्वारा सम्मान किये जाने से अन्य लोग भी प्रभावित होकर नशा छोडने का प्रयास करेंगे।

114480

tripti gurudev 6 days 2 hours ago

नशा छोडने के लिए दृड इच्छा शक्ति होना आवश्यक, दृड प्रण के साथ नशे को छोडना आवश्यक है।

108060

Amit Devendra Ojha 1 week 5 days ago

कार्यशाला के दौरान स्कूलों में कक्षा 9 से लेकर 12 तक तथा कॉलेज में स्नातकोत्तर तक के विद्यार्थियों को जानकारी दी गई इस दौरान नोडल अधिकारी बनाए गये, यूथ क्लब गठित कर उनके द्वारा किए जाने वाले कार्यों को सुनिश्चित करना, कंप्लेंट बॉक्स लगवाया जाना, हेल्पलाइन नंबर 9893824003 की जानकारी बच्चो को उपलब्ध कराना शामिल है।