You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

देशभक्ति पूर्ण मौलिक कविता लेखन प्रतियोगिता

Start Date: 25-07-2020
End Date: 15-08-2020

मध्‍यप्रदेश के युवाओं, विद्यार्थियों और बच्चों में स्वाधीनता ...

See details Hide details
समाप्त हो चुके

मध्‍यप्रदेश के युवाओं, विद्यार्थियों और बच्चों में स्वाधीनता संग्राम के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के उद्देश्य से स्वराज संस्थान संचालनालय, संस्कृति विभाग, म.प्र. शासन द्वारा देशभक्ति पूर्ण मौलिक कविता लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है।

स्वराज संस्थान संचालनालय, संस्कृति विभाग म.प्र. शासन द्वारा चयनित विजेताओं को पुरस्कार स्वरूप क्रमशः रूपये 10,000/-, 5,000/-, 3,000/- के एक-एक तथा पाँच पुरस्कार रुपये 1000/- के प्रदान किये जावेंगे। इसके साथ प्रमाण-पत्र, स्वाधीनता संग्राम पर केन्द्रित पुस्तकें तथा देशभक्ति गीतों की ऑडियो सीडी भी प्रदान की जायेगीं।

➥प्रविष्टियाँ प्राप्त करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त 2020, शाम 5:00 बजे तक है।

प्रतियोगिता की शर्तें-

• प्रति नागरिक द्वारा केवल एक ही प्रविष्टि स्वीकार की जाएगी।
इस प्रतियोगिता में 35 वर्ष (1 जनवरी, 2020 की स्थिति में) तक की आयु सीमा के मध्यप्रदेश के सभी निवासी भाग ले सकेंगे।
• पुरस्कार के लिये चयनित प्रविष्टियों के कहीं भी उपयोग का सर्वाधिकार स्‍वराज संस्‍थान संचालनालय के पास सुरक्षित रहेगा।
• श्रेष्ठ प्रविष्टि का चयन स्‍वराज संस्‍थान संचालनालय द्वारा किया जायेगा और उनका निर्णय अंतिम होगा।
• एक से अधिक सफल प्रतिभागियों की स्थिति में पुरस्कार का चयन lottery System द्वारा किया जायेगा।
• प्रतिभागी यह सुनिश्चित करें कि उनका नाम, पिता का नाम, पता, ई-मेल एवं मोबाइल नंबर जैसे विवरण शामिल हैं। अपूर्ण प्रोफाइल के साथ प्राप्त प्रविष्टियों पर विचार नहीं किया जाएगा।
• प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागी यह सुनिश्चित करें किः-
1. उन्होंने प्रवेश की सभी शर्तो का अनुपालन किया है।
2. उनकीं प्रविष्टिया मूल हैं।
3. रचनात्‍मक प्रस्‍तुति की भाषा केवल हिन्‍दी ही स्‍वीकार्य होगी।
4. उनकी प्रविष्टियां किसी भी तीसरे पक्ष की बौद्धिक सम्पदा अधिकारों का उल्लंघन नहीं करती हैं।

All Comments
Total Submissions ( 386) Approved Submissions (368) Submissions Under Review (18) Submission Closed.
Reset
368 Record(s) Found
800

VINIT JOSHI 3 months 2 weeks ago

poem-यारा प्यारा मेरा देश,
सजा – संवारा मेरा देश॥

दुनिया जिस पर गर्व करे,
नयन सितारा मेरा देश॥

चांदी – सोना मेरा देश,
सफ़ल सलोना मेरा देश॥

सुख का कोना मेरा देश,
फूलों वाला मेरा देश॥

झुलों वाला मेरा देश,
गंगा यमुना की माला का मेरा देश॥

फूलोँ वाला मेरा देश
आगे जाए मेरा देश॥

Name-vinitjoshi
father-gyaneshjoshi
mobileno.-9329445767
gmail id-vinitjoshi2004@gmail.com
age-16years

2650

Shubham Deshmukh 3 months 2 weeks ago

देश बसा यह गांव में;
पीपल-आम की छाँव में,
बाग की नाजुक कलियों में,
नगरों की उलझीं गलियों में।||५||

सागरों से घिरा देश है;
घने वनों से भरा देश है,
बदलते इस समय में भी,
शांति का यहाँ परिवेश है।||६||

किसान-हस्त से रोपित भारत;
मातृ-भाव से पोषित भारत,
संस्कृति से सज्जित भारत,
सम्राटों से पुलकित भारत।||७||

आज भी कई राज्यों में हैं;
राजाओं की राजधानीं,
एक बार पूछो तो उनसे,
फिर बोलतीं उनकी जुबानी।||८||

5770

Yash Rawat 3 months 2 weeks ago

प्यारा प्यारा मेरा देश,
सजा – संवारा मेरा देश॥
दुनिया जिस पर गर्व करे,
नयन सितारा मेरा देश॥
चांदी – सोना मेरा देश,
सफ़ल सलोना मेरा देश॥
सुख का कोना मेरा देश,
फूलों वाला मेरा देश॥
झुलों वाला मेरा देश,
गंगा यमुना की माला का मेरा देश॥
फूलोँ वाला मेरा देश
आगे जाए मेरा देश॥
नित नए मुस्काएं मेरा देश
इतिहासों में नाम लिखायें मेरा देश॥

2060

Abhinav Jain 3 months 2 weeks ago

कविता - भारत सिर्फ एक शब्द नहीं।

यह कविता देशभक्ति से परिपूर्ण है।

मेरे बारे में :
नाम : अभिनव जैन
पिता का नाम : सुनील जैन
उम्र : 18 वर्ष
मोबाइल : 6263353712
पता : राजेन्द्र पार्क के सामने टीकमगढ़ (म.प्र.)

4830

Jay darshan Rawat 3 months 2 weeks ago

पन्द्रह अगस्त देश की शान है,
यह मेरे देश का अभिमान है।
गर्व होता है इस दिन पर मुझे,
यही मेरी आन यही मेरा पहचान है।

राम, कृष्णा, बुद्ध और
महावीर का प्यारा यह देश है।
जियो और जीने दो का
सबको देता संदेश है।

देश की आजादी के लिए
शहीदों ने प्राण गवाएं।
उन शहीदों की शहादत का
पन्द्रह अगस्त सम्मान है।

न भूलना कभी इस दिन को
यह देश की पहचान है।
स्वतन्त्रता दिवस के नाम से
प्रसिद्ध देश की शान है।