You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

‘अनुभूति कार्यक्रम’ लोगो डिज़ाइन प्रतियोगिता

Start Date: 19-09-2019
End Date: 22-10-2019

प्रकृति हमें जीवित रहने के लिए सबकुछ देती है। इस प्रकार, जब प्रकृति ...

See details Hide details
Closed

प्रकृति हमें जीवित रहने के लिए सबकुछ देती है। इस प्रकार, जब प्रकृति हमें सबकुछ देती है तो उसका संरक्षण भी हमारी ही जिम्मेदारी है। स्कूली बच्चों में प्रकृति के प्रति जिम्मेदारी और अपनेपन की इसी भावना को विकसित करने के लिए, मध्यप्रदेश वन विभाग द्वारा ईको टूरिज्म डेवलपमेंट बोर्ड (MPEDB) के माध्यम से प्रशिक्षण व जागरुकता के लिए ‘अनुभूति कार्यक्रम’ का आयोजन किया जाता रहा है। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य वन,वन्यप्राणी व पर्यावरण की रक्षा और संरक्षण की अनिवार्यता के बारे में युवा मन को समझाना है।

अनुभूति कार्यक्रम के रूप में, मध्य प्रदेश के सभी वन परिक्षेत्रों में MPEDB द्वारा 15 दिसंबर से 15 जनवरी के बीच एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया जाता है। इन शिविरों के माध्यम से छात्रों को प्रकृति व पर्यावरण का अनुभव प्रदान किया जाता है, ताकि छात्र इसके महत्व के बारे में जागरूक हो सकें। कार्यक्रम की गतिविधियों में पर्यावरण संरक्षण, जैव विविधता, बर्ड वॉचिंग, वन प्रबंधन, आदि शामिल हैं। अनुभवी और प्रशिक्षित मास्टर ट्रेनर द्वारा छात्रों को प्रकृति की सैर, ट्रेक, प्रकृति की पाठशाला एवं विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से पर्यावरण की अनुभूति करायी जाती है। परिणामस्वरूप पिछले तीन वर्षों में 2 लाख से अधिक छात्र इस कार्यक्रम में भाग ले चुके हैं।

प्रकृति से संबंधित गतिविधियों के अलावा, छात्रों को शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनाने के लिए साहसिक गतिविधियाँ भी आयोजित की जाती है। 2018 के अनुभूति कार्यक्रम में दिव्यांग बच्चे भी शामिल थे; जिन्हें स्पर्श, ध्वनि, ब्रेल आदि के माध्यम से प्रकृति की सुंदरता का अनुभव कराया गया था।
ईको टूरिज्म डेवलपमेंट बोर्ड (MPEDB) अनुभूति कार्यक्रम 2019-2020 के लिए पूरी तरह से तैयार है। इसी क्रम में, MPEDB अनुभूति कार्यक्रम के लिए एक लोगो-डिज़ाइन प्रतियोगिता आयोजित कर रहा है, जो इस कार्यक्रम को एक नई पहचान दे सके। प्रतिभागी अपनी प्रविष्टि को www.mp.mygov.in पर 21अक्टूबर, 2019 शाम 5 बजे तक ऑनलाइन अपलोड कर सकते हैं या फिर Terms and condition में दिये गये MPEDB के पते पर भेज सकते हैं।

चयनित प्रविष्टि को ईको टूरिज्म डेवलपमेंट बोर्ड (MPEDB) द्वारा 20,000/- रूपये की पुरस्कार राशि और प्रमाण-पत्र से सम्मानित किया जाएगा।

प्रतियोगिता से सम्बंधित सभी नियम व शर्तें जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

All Comments
Total Submissions ( 86) Approved Submissions (76) Submissions Under Review (10) Submission Closed.
Reset
76 Record(s) Found
5440

Baban Parisa Dathwade 9 months 2 weeks ago

Respected sir,
Present logo describes school student protected plant. The snip indicates Removing of plants. The red cross symbol indicates the stop cut plants. Protect plants. Save the mother Earth. Saving, protecting and growth of plants feeling for school students is called "Anubhuti". Save nature feel Anubhav"

File: 
2780

Kalpana Batham 9 months 2 weeks ago

अनुभूति कार्यक्रम के इस लोगो मे मानव ,प्रकृति और वन्यजीवों के परस्पर पारिवारिक महत्व को प्रदर्शित किया गया है। वर्तमान में मध्यप्रदेश राज्य को बाघ राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ है।मध्यप्रदेश राज्य के इस गौरव को बनाये रखने के उद्देश्य से अनुभूति कार्यक्रम के माध्यम से विद्याथियों एवं युवाओं में बाघों के संरक्षण तथा पर्यावरण के प्रति जागरूकता एवं सजगता का भाव उत्पन्न कराने का संदेश इस लोगो मे निहित है।

File: 
3150

Prarthana Shah 9 months 2 weeks ago

As per all the above requirements, I have include mascot(use for young people) for 7 to 11th class students. as I know mp is famous for his national park (tiger reserve) so I talk tiger as a mascot .i also show the biodiversity by the red triangle which is of 3 types in nature.write both of the names of mp ecotourism development board with organizing anubhuti.

File: