You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

‘दीन दयाल स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन मध्यप्रदेश’ के लिए ‘लोगो’ प्रतियोगिता

आयुष्मान भारत के अंतर्गत संचालित ‘दीन दयाल ...

See details Hide details
Closed

आयुष्मान भारत के अंतर्गत संचालित ‘दीन दयाल स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन मध्यप्रदेश’ एक ऐसी योजना है, जो प्रदेश के विभिन्न श्रेणी के गरीब परिवारों के ऊपर से स्वास्थ्य संबंधी वित्तीय बोझ कम करने के साथ ही उन्हें गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने का काम करती है।

सरकार द्वारा चलाए जा रहे इस स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम से प्रदेश में लोगों के काम करने की क्षमता में सुधार होगा, जिससे निश्चित रूप से गरीबी में कमी आएगी, वहीँ गरीब और निराश्रित परिवार के लोगों को समय पर स्वास्थय लाभ मिलने से प्रदेश की आर्थिक स्थिति को सुधारने में भी सहायता मिलेगी।

इस योजना के माध्यम से सरकार प्रदेश भर में सूचीबद्ध स्वास्थ्य केन्द्रों की सहायता से मध्यप्रदेश के लगभग 1.37 करोड़ परिवारों को लाभान्वित करेगी।

स्वास्थ्य के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, मध्यप्रदेश दीन दयाल स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन मध्यप्रदेश के लिए एक ‘लोगो डिजाइन’ प्रतियोगिता आयोजित कर रहा है।

ध्यान रहे; लोगो रचनात्मक होने के साथ-साथ योजना के उद्देश्यों को दर्शाने वाला होना चाहिए जिससे योजना के लाभों को आसानी से समझा जा सके।

चयनित प्रविष्टि को रुपये 5000/- के पुरस्कार राशि से सम्मानित किया जाएगा।

प्रतियोगिता के नियम एवं शर्तें

• प्रतिभागी को अपना नाम, जिले का नाम,पता, ई-मेल एड्रेस और फ़ोन नंबर अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करना होगा।
• देश का कोई भी नागरिक इस प्रतियोगिता में प्रतिभागिता कर सकता है।
• सभी प्रविष्टियाँ मूल होनी चाहिए।
• लोगो में इस्तेमाल किए गए शब्द और आर्टवर्क केवल हिंदी में होना चाहिए।
• कृपया अपना लोगो PDF, JPEG या PNG प्रारूप में अपलोड करें।
• लोगो की अवधारणा क्या है? इसका स्पष्टीकरण भी साथ में संलग्न करें (अधिकतम 100 शब्दों में)
• चयन हेतु एक प्रतिभागी द्वारा केवल एक ही प्रविष्टि स्वीकार की जाएगी।
• अपूर्ण प्रोफाइल के साथ प्राप्त प्रविष्टियों पर विचार नहीं किया जाएगा।
• प्रविष्टियों का चयन लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, मध्यप्रदेश के विशेषज्ञ पैनल द्वारा किया जायेगा एवं अंतिम निर्णय पैनल का ही मान्य होगा।
• चयनित प्रविष्टि के सर्वाधिकार लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, मध्यप्रदेश की संपत्ति होगी एवं इसमें किसी भी प्रकार के बदलाव का अधिकार सुरक्षित होगा।
• प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागी यह सुनिश्चित करें कि:
a) उन्होंने प्रवेश की सभी शर्तों का अनुपालन किया है।
b) उनकी प्रविष्टियां मूल हैं।
c) उनकी प्रविष्टियां किसी भी तीसरे पक्ष की बौद्धिक सम्पदा अधिकारों का उल्लंघन नहीं करती है।

All Comments
Total Submissions ( 49) Approved Submissions (47) Submissions Under Review (2) Submission Closed.
Reset
47 Record(s) Found

DURGESH KUMAR JOSHI 5 months 3 weeks ago

name- durgesh kumar joshi
address- ward no-13, dafai no-1, near kali chaura dhanpuri dist-shahdol (m.p.) 484114
mob no- 9755330050
email-durgesh7joshi9@gmail.com
topic-swasthya suraksha yojna madhya pradesh
slogan- swasthya rahenge nirogya rahenge sukh se acchi jindgi jiyenge

Anshuman Singh Bhadoria 5 months 3 weeks ago

This logo will tell the people of state to come and participate in the mission to maintain their health as well as engage others to be a part of it.It will also tell about diseases that are overcoming the people which decrease their capability to work and decreases the growth of state.

CHANDRA KISHOR GOSWAMI 5 months 3 weeks ago

मध्यप्रदेश दीनदायल स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन हेतु निर्धारित लोगो तैयार चंद्रकिशोर गोस्वामी द्वारा डिजाइन कर मध्यप्रदेश सरकार की सेवा मे प्रस्तुत है।

Manish vaishnav 5 months 3 weeks ago

इस लोगो में चिकित्सा से संबंधित कुछ प्रतीक चिह्नो का प्रयोग किया गया है,और बाईं तरफ के हाथों को दान या सहयोग करते हुये तथा बाईं तरफ के हाथों को ग्रहण कर्ता या जरूरतमंद के रूप में दर्शाया गया है ।

om bihari prasad 5 months 3 weeks ago

लोगो में चाँद और (+) का सिम्बल दिया गया हैं
चाँद का लोगो से तालुक ये है की हम अपनी जिन्दगी को चाँद से कम न समझे + का सिम्बल ये है इस धरती पे दूसरा चाँद डॉक्टर है जिसे हमारी जिन्दगी को सहराना देते हैं जो की इस सिम्बल में दर्शया गया हैं |

Vivek Badoniya 5 months 3 weeks ago

इस लोगो को बनाने का मुख्य उद्देश्य- मानव, मानव स्वास्थ्यऔर प्रकृति के मध्य संबंध बताना है। चूँकि आज का पर्यावरण इतना प्रदूषित हो गया है कि हम दिन प्रतिदिन किसी न किसी प्रकार की बीमारी से ग्रस्त रहते है। और हमारे सभी रोगों का निदान भी प्रकति के पास ही है। आयुर्वेद औषधि जो कि हमें प्रकृति से ही प्राप्त होती है से भी मानव पूरी तरह से स्वस्थ रह सकता है। अतः हम प्रकृति का संरक्षण करेंगे तो वह भी हमारा संरक्षण करेगी
" मेरा स्वास्थ्य मेरा धन"

YOGESHSINGH DHURWE 5 months 3 weeks ago

लोगो अनुसार एक श्रमि‍क दर्शित किया गया है जो कि मजदूरी कर जीवन यापन करता है वह बीमारी की वजह से कार्य नही कर पा रहा है एवं बीमारी में स्वास्थ्य के अतिरिक्ता भार से गिर रहां है तभी आयुष्मान भारत भारत के द्वारा संचालित दीन दयाल स्वासस्य् ब सुरक्षा मिशन म0प्र0 रूपी एक स्वास्थ्य प्रतिनीधी द्वारा उसको स्वास्थ्य संबंधी वित्तीय बोझ कम कर सहारा दिया जाता है एवं प्लास चिन्हि के अनुसार उसे गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कि जा रही है ।