You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

The rights of persons with disabilities

Start Date: 26-03-2021
End Date: 10-05-2021

नि:शक्तजनों के प्रति सार्वजनिक जागरूकता हेतु सुझाव

...

See details Hide details


नि:शक्तजनों के प्रति सार्वजनिक जागरूकता हेतु सुझाव

भारत सरकार व राज्य सरकार दिव्यांगजनों के लिए समान अवसर उपलब्ध कराने और राष्ट्र निर्माण में उनकी भागीदारी के लिए संकल्पित है। दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के तहत संयुक्त रूप से विकास की ओर चलने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने नि:शक्तजनों के लिए म.प्र. दिव्यांगजन अधिकार नियम 2017 बनाये हैं। दिव्यांगताओं की श्रेणी बढाकर 21 कर दी गई है जो कि पहले 7 थी। दिव्यांगता के प्रकार में बौद्धिक अक्षमता, मानसिक बीमारी, स्वलीनता, जीन तंत्रिका अवस्था, द्रष्टिबाधित, अल्प द्रष्टि, वाक् और भाषा दोष, श्रवण विकलांगता, गतिजनित अक्षमता, मस्तिष्क पक्षाघात, कुष्ठ रोग, बौनापन, मांसपेशीय दुर्विकास, एसिड हमला पीड़ित, मल्टीपल स्कलेरोसिस,पार्किसन रोग,हिमोफिलिया, थेलेसीमिया, सिकल सेल रोग, विशिष्ट अधिगमन अक्षमता एवं बहुविकलांगता को शामिल किया गया है।

अक्सर देखा गया है कि नि:शक्तजनों का लाभ उठाकर समाज के कुछ लोग उन्हें नशे की बुरी आदत की तरफ ले जाते हैं जो अपने आप में ही गलत और अनुचित है। ऐसे में हम सभी का कर्तव्य है कि हम नि:शक्तजनों के प्रति सार्वजनिक जागरूकता पैदा करें, दिव्यांगों के सशक्तिकरण के लिए सुविधाएं प्रदान करने में सरकार के साथ उनके लिए सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने में सहयोग करें।

आयुक्त नि:शक्तजन, मध्यप्रदेश द्वारा नि:शक्तजनों से जुड़े अधिकारों एवं उनके समुचित विकास के बारे में जागरूकता बढ़ाने हेतु विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम और अभियान चलाए जा रहे हैं। ऐसे में विभाग नागरिकों से नि:शक्तजनों के उत्थान की दिशा में आपके मूल्यवान विचार एवं सुझाव MPMyGov के माध्यम से आमंत्रित करता है।

All Comments
Reset
41 Record(s) Found
220

heaxxxxxfh 3 days 22 hours ago

The government should remove the income bond for the handicapped family, because in today's inflation, a person with disabilities needs many more from the family and there is a G limit of 6 lakhs,
it is normal that it should be increased to 12 lakhs In it, even such families can take advantage of it, who need it very much

220

heaxxxxxfh 3 days 22 hours ago

Dear Respected Team Members,

I would like inform you to that please make a area wise team and give some reasonability so he / she will take care for area wise help like volunteer or NGO person and MP Govt issue one id card to team leader so he will reach out & help to area member. for food, medicine and rest what they required.

1570

Vivek Surana 4 days 4 hours ago

Dear Respected Team Members,

I would like inform you to that please make a Area wise team and give some reasonability so he/she will take care for area wise help like volunteer or NGO person and MP Govt Issue one id card to Team Leader so he will reach out & help to area member. for food, medicine and rest what they required.

20850

poonam jain 4 days 7 hours ago

Sabhi divanjano ko jinko madad ki jarurat ho unke naam list mai sabhi sarvjanik sthano mai chaspa kiye jaye taki aam jan bhi unki madad kar paye

500

sandeepkumarsoni 4 days 9 hours ago

yadi log nhi man rhe hai to lockdown lagana chahiye lekin jo pariwar arthik kamjor h unki dhyan me rkhte huye or sath hi vaccination ke kary ko teji deni chahiye taki locksown samapt hone tak adhik se adhik vaccination ho jaye.

500

sandeepkumarsoni 4 days 9 hours ago

sir,
Namaskar mere hisab se to har bus stand aur har railway stationo me vaccination centers hone chahiye taki jisase vaccinations bhi jada honge aur korona ko bhi kafi had tak rok payenge.

100

arvindra sharmag arvindrasharmagmailcommo 4 days 18 hours ago

Log ni man rhe h aap to lockdown lga dijiye sir ji jo log free ghum rhe h unka aana Jana band kr dijiye jo jo. Pr ja rhe h Bo apka card dikha kr ja sakte h

440

GantantraMehta 5 days 8 hours ago

सरकार को दिव्यांग परिवार के लिए आय का बंधन हटा देना चाहिए क्योंकि आज के महंगाई के समय में दिव्यांग व्यक्ति को परिवार की और से बहुत सारी आवश्यकताएं चाहिए होती है और 6 लाख की जी लिमिट है वह तो सामान्य है
इसको बदाकर 12 लाख करना चाहिए जिससे उसमे ऐसे परिवार भी लाभ ले सके जिसको इसकी बहुत जरूरत है

30880

VIJAY KUMAR VISHWAKARMA 5 days 18 hours ago

बहुत से नागरिक एवं संस्थाएं दिव्यांगो की सहायता करना चाहते हैं लेकिन उनका विवरण सहजता से उपलब्ध नहीं हो पता । आमजनों के पास सर्वेक्षण करने की सुविधा और समय का अभाव बना रहता है इसलिए वे चाहकर भी उनकी सहायता नही कर पाते । यदि विभाग द्वारा नाम और निवास स्थल की जानकारी आॅनलाईन उपलब्ध कराई जा सके तो उसका सदुपयोग हो सकता है । इसके लिए दिव्यांगों से अनुमति एवं आवश्यक डाटा ही पब्लिक डोमेन में शेयर किया जाए ।