You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

The rights of persons with disabilities

Start Date: 26-03-2021
End Date: 15-06-2021

नि:शक्तजनों के प्रति सार्वजनिक जागरूकता हेतु सुझाव

...

See details Hide details


नि:शक्तजनों के प्रति सार्वजनिक जागरूकता हेतु सुझाव

भारत सरकार व राज्य सरकार दिव्यांगजनों के लिए समान अवसर उपलब्ध कराने और राष्ट्र निर्माण में उनकी भागीदारी के लिए संकल्पित है। दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के तहत संयुक्त रूप से विकास की ओर चलने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने नि:शक्तजनों के लिए म.प्र. दिव्यांगजन अधिकार नियम 2017 बनाये हैं। दिव्यांगताओं की श्रेणी बढाकर 21 कर दी गई है जो कि पहले 7 थी। दिव्यांगता के प्रकार में बौद्धिक अक्षमता, मानसिक बीमारी, स्वलीनता, जीन तंत्रिका अवस्था, द्रष्टिबाधित, अल्प द्रष्टि, वाक् और भाषा दोष, श्रवण विकलांगता, गतिजनित अक्षमता, मस्तिष्क पक्षाघात, कुष्ठ रोग, बौनापन, मांसपेशीय दुर्विकास, एसिड हमला पीड़ित, मल्टीपल स्कलेरोसिस,पार्किसन रोग,हिमोफिलिया, थेलेसीमिया, सिकल सेल रोग, विशिष्ट अधिगमन अक्षमता एवं बहुविकलांगता को शामिल किया गया है।

अक्सर देखा गया है कि नि:शक्तजनों का लाभ उठाकर समाज के कुछ लोग उन्हें नशे की बुरी आदत की तरफ ले जाते हैं जो अपने आप में ही गलत और अनुचित है। ऐसे में हम सभी का कर्तव्य है कि हम नि:शक्तजनों के प्रति सार्वजनिक जागरूकता पैदा करें, दिव्यांगों के सशक्तिकरण के लिए सुविधाएं प्रदान करने में सरकार के साथ उनके लिए सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने में सहयोग करें।

आयुक्त नि:शक्तजन, मध्यप्रदेश द्वारा नि:शक्तजनों से जुड़े अधिकारों एवं उनके समुचित विकास के बारे में जागरूकता बढ़ाने हेतु विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम और अभियान चलाए जा रहे हैं। ऐसे में विभाग नागरिकों से नि:शक्तजनों के उत्थान की दिशा में आपके मूल्यवान विचार एवं सुझाव MPMyGov के माध्यम से आमंत्रित करता है।

All Comments
Reset
99 Record(s) Found
7488320

Jay darshan Rawat 1 month 3 weeks ago

प्रत्येक निशक्त नागरिक हमारे समाज का ही हिस्सा हें इनके उत्थान के लिए सामाजिक भागीदारी के माध्यम से जेसे विभिन्न सामाजिक संस्थाये,जनसमूह, एनजीओ इत्यादि को आगे आना चाहिये और इनके कलात्मक ज्ञान, रुचियों को प्रोत्साहित करना चाहिये साथ ही सरकार के साथ मिलकर इन संस्थाओं और जनसमूहों को निशक्त जनों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये ऐसे केंद्र बनाने चाहिये जहाँ यह अपने जीवनयापन के लिये उद्यमों को सीख सकें जेसे - कड़ाई बुनाई, पेंटिंग, संगीत, खाना बनाना, हाथों से बना सामान(डिब्बे,कागज उद्योग, इत्यादि)

7488320

Jay darshan Rawat 1 month 3 weeks ago

सामान्य शिक्षा के साथ उन्हें कुछ आत्मनिर्भर बनाने क़़ा कौशल दिया जो आर्थिक मजबूती के साथ मनोबल को उच्च करता है। उन्हें विशेष रूप से कला,हस्तकला, दस्तकारी, कम्प्यूटर कोर्स, डाटा इन्ट्री,नक्काशी, संगीत, खेल, अध्यापन, लेखन, समाचारपत्र, कहानी कविता लेखन, की वास्तविक शिक्षा दी जाए। और कौशल विकास की संस्थाओं के कार्यों में गुणवत्ता लायी जाए। प्रशिक्षण का कितना निम्न स्तर है और कितनी निम्न तकनीक है ये आप प्रशासन अकादमी में जाकर देख सकते हैं।

7488320

Jay darshan Rawat 1 month 3 weeks ago

सरकार सुनिश्चित करे कि तकनीकी/ सिखाने वाले यंत्र औजार, जैसे खिलौने, ब्रेल, टॉकिंग बुक, उचित सॉफ्टवेयर इत्यादि भी उपलब्ध कराये जाएंगे। सामान्य पुस्तकालय, ई-लाइब्रेरी, ब्रेल-लाइब्रेरी तथा टॉकिंग बुक लाइब्रेरी, संसाधन कक्ष की स्थापना के लिए सहायता प्रदान की जाएगी। मनोरंजन, सांस्कृतिक गतिविधियों तथा खेलकूद, हॉस्टल, समुद्र तट, स्पोर्ट एरीना, ऑडिटोरियम, जिम हॉल इत्यादि को विकलांग व्यक्तियों की पहुंच के लायक बनाना चाहियें।

7488320

Jay darshan Rawat 1 month 3 weeks ago

सरकार सुनिश्चित करे कि सार्वजनिक तथा निजी क्षेत्र के औद्योगिक प्रतिष्ठान, कार्यालय, सार्वजनिक उपक्रम अपने कर्मचारियों के लिए विकलांग हितैषी कार्य स्थल प्रदान करेंगे। सुरक्षा मानकों का निर्धारण किया जाएगा तथा उनका कड़ाई से पालन किया जाएगा। देश में विकलांगता हितैषी आइटी वातावरण को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

7488320

Jay darshan Rawat 1 month 3 weeks ago

विकलांगता से पीड़ित व्यक्ति के प्रति किसी भी प्रकार का भेदभाव न रखा जाये | अभेदभाव के इस तत्व के अनुसार भवनों को अनुकूल बनाया जाना अपरिहार्य है जिसके फल स्वरूप विकलांगता से पीड़ित व्यक्ति भी उनका सहजता से प्रयोग कर सके| सार्वजनिक भवन (कार्यात्मक या मनोरंजनात्मक), परिवहन सुविधाएं, जैसे सड़क, सब-वे तथा फुटपाथ, रेलवे प्लेटफॉर्म, बस स्टॉप/ टर्मिनस/ बंदरगाह/ हवाई अड्डे, परिवहन के माध्यम (बस, ट्रेन, वायुयान तथा जहाजों), खेल के मैदान, खुले स्थान इत्यादि को विकलांग व्यक्तियों के लिए अवरोध मुक्त पहुंच हों।

100

Naveen Satle 2 months 8 hours ago

LEPRA society working for persons infected and affected with Leprosy and Lymphatic Filariasis in Madhya Pradesh with State Leprosy Unit and State LF unit therefore requesting you that we are ready to provide space and logistics for vaccination in coming days ( when the vaccine supply will be ok) in our project locations in Bhopal Office and St Joseph Leprosy center Sanawad District Khargone along with community mobilization and LEC for COVID prevention and vaccination hesitancies.

4380

RAJKUMAR SAHU 2 months 6 days ago

महोदय जी विकलांगो की जो हालत है ग्रामीण में वह मेने आपके सामने रखी है बहुत खराब स्तिथी है ग्रामीण विकलांगो की परन्तु इतना सब करते हुए भी कोई सुधार नही हो रहा है सायद करने बालो की कमी है या फिर करने बाला कोई नही है धनयवाद सुझाब संलंग है