You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

Suggest to Prevent Cooperative Fraud and Financial Crime

Start Date: 01-09-2021
End Date: 30-09-2021

वित्तीय धोखाधड़ी एवं अपराध संबंधी परिचर्चा

...

See details Hide details

वित्तीय धोखाधड़ी एवं अपराध संबंधी परिचर्चा


वित्तीय अपराध एवं धोखाधड़ी के बारे में नागरिकों को जागरूक करें

भारत देश की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ती जा रही ही। पूरे विश्व में भारत एक बड़े बाजार के रूप में स्थापित हो रहा है। तेजी से बढ़ती जनसंख्या और शहरीकरण से लोगों की जरूरतें बढ़ी हैं, वहीं लेनदेन, निर्माण और अन्य आर्थिक क्षेत्र में होने वाली धोखाधड़ी में कई गुना वृद्धि हुई है। सहकारी संस्थाओं, कम्पनियों, चिटफंड कंपनियों, बैंकों, गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं एवं अशासकीय संगठनों आदि से संबंधित धोखाधड़ी, सूदखोरी से संबंधित अपराध बढ़ रहे हैं, इसमें सबसे ज्यादा मध्यम और गरीब वर्ग प्रभावित है जो चिटफंड और सूदखोरों से सबसे ज्यादा परेशान है।

वित्तीय धोखाधड़ी भारतीय कानून के तहत अपराध है, जिसके लिए सजा और जुर्माना दोनों का प्रावधान है। भारतीय संसद ने वित्तीय अपराधों को रोकने और वित्तीय अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए धन-शोधन निवारण अधिनियम (Prevention of Money Laundering Act, 2002) बनाया गया है।

इस अधिनियम के तहत वित्तीय अपराध करने वाले को तीन साल से सात साल तक की कठोर सजा का प्रावधान है। इसके अलावा आरोपी पर जुर्माना लगाया जा सकता है और उसकी संपत्ति भी जब्त के साथ कुर्की की भी कार्रवाई की जा सकती है।

अन्य प्रदेशों की तरह मध्य प्रदेश में भी आर्थिक धोखाधड़ी को रोकने और पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए ‘वित्तीय अपराध, को-ऑपरेटिव फ्रॉड, पुलिस मुख्यालय भोपाल’ सजग है।

किसी भी वित्तीय अपराध एवं धोखाधड़ी से पीड़ित नागरिकों को दोषियों को दंडित करवाकर उन्हें न्याय दिलाने में मदद करता है। यदि आपके साथ भी इस तरह की वित्तीय धोखाधड़ी होती है तो आप विभाग से शिकायत कर सकते हैं।

विभाग के साथ-साथ एक नागरिक के रूप में हमारी भी जिम्मेदारी है कि इस तरह के वित्तीय धोखाधड़ी से हम स्वयं भी सतर्क रहें। इस तरह के वित्तीय धोखाधड़ी से बचाव हेतु यदि आपके पास कोई भी सुझाव है तो हमसे अवश्य साझा करें। आपके विचार हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं।

ऐसी किसी समस्या के लिए आप विभाग से संपर्क कर सकते हैं : 0755-2443022

All Comments
Reset
53 Record(s) Found
0

Ritesh 7 hours 46 min ago

वीत्तीय धोखाधडी आजकल हमारे समाज मे बढ़ती जा रही है इसे रोकने के लिए नागरिकों को जागरूक होना पड़ेगा। इंटरनेट की समझ को आम जनता में विकसित करना होगा तथा ऑनलाइन पेमेंट आदि करने से पहले रीचेक करना होगा - https://jmch.org.in/

135140

ShivangiMishra 19 hours 34 min ago

विभाग के साथ-साथ एक नागरिक के रूप में हमारी भी जिम्मेदारी है कि इस तरह के वित्तीय धोखाधड़ी से हम स्वयं भी सतर्क रहें।

135140

ShivangiMishra 19 hours 38 min ago

आरोपी पर जुर्माना लगाया जा सकता है और उसकी संपत्ति भी जब्त के साथ कुर्की की भी कार्रवाई की जा सकती है।

135140

ShivangiMishra 19 hours 39 min ago

इस अधिनियम के तहत वित्तीय अपराध करने वाले को तीन साल से सात साल तक की कठोर सजा का प्रावधान है।

200

AakashGour 1 day 21 hours ago

agar kisi se k sath Fraud ho jata h, toh fraud karne wale par kuch action liya jana chahiye. bahut baar aesa hota h ki call karke ATM aur account details karke fraud kar liya jata h par fraud karne walo par sahi se action nhi liya jata. balki itni technology ho gayi h ki us fraud karne wale bande ko turant pakda ja sakta h…

200

AakashGour 1 day 22 hours ago

What are the things that should always be kept in mind?

1. UPI PIN is required only to send money and view balance in the account.
2. It is not needed to get money. If someone asks you to enter your PIN, it means you're allowing payments from your account.
3. If someone fraudulently asks you to do financial transactions, never do so,
4. Never do this under the pressure of someone talking on the phone
Full article https://www.rmupdate.com/2021/09/16/protect-against-financial-fraud/

24450

SUDARSHAN SOLANKI 2 days 9 hours ago

उन संस्थाओं को वित्तीय संस्थाएँ (financial institution) कहते हैं जो अपने ग्राहकों एवं सदस्यों को वित्तीय सेवाएँ (जैसे ग्राहक का धन जमा रखना, ग्राहक को ऋण देना, बैंक ड्राफ्ट देना, निधि अन्तरण आदि) देते हैं. बैंक, भवन-निर्माण सोसायटी, बीमा कम्पनियाँ, पेंशन फण्ड कम्पनियाँ, दलाल संस्थाएँ आदि वित्तीय संस्थाओं के कुछ उदाहरण हैं. लिंक पर क्लिक कर पढ़े पूरा लेख https://sudarshansarticles.blogspot.com/2020/12/blog-post.html

400

Sandeep Patel_24 2 days 17 hours ago

Following steps are suggested to avoid such frauds:-
1. Do not carry password/pin in your wallet.
2. Do not save password/pin in your mobile phone.
3. Keep updated your mobile number with your bank account.
4. Never share your otp with anyone.
5. If you are having money in lakhs then go to the branch and make fix deposits. Such fix deposits can be withdrawn only when you physically comes to the branch.
6. Hide your date of birth in social media.

Thanks
Sandeep Patel